पहले प. बंगाल में रवींद्र संगीत गूंजता था, आज बम धमाके सुनाई देते हैं। हम इसे बंद करना चाहते हैं।- अमित शाह

0
445

भाजपा (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) आज ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) के गढ़ मालदा जिले (Malda) में अपने संबोधन में कहा कि मैं चुनावी अभियान (Election campaign) की शुरुआत करने आया हूं। 2019 का चुनाव भारत का भविष्य निर्धारित करने वाला चुनाव तो है ही लेकिन उसके साथ बंगाल के लिए भी यह चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण है। शाह (Amit Shah) ने कहा कि ममता दीदी को डर था कि अगर हमारी यात्रा राज्य में निकलती है तो उनकी सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाएगी. रैली को संबोधित करते हुए शाह (Amit Shah) ने कहा, ‘यह चुनाव पार्टियों के बीच का चुनाव है. यह बंगाल की संस्कृति को समाप्त करने वाली टीएमसी को हराने का चुनाव है. यह बंगाल की जनता को निर्णय लेना है कि संस्कृति को बचाने वाली बीजेपी को लाएंगे या उनकी संस्कृति को खत्म करने वाली टीएमसी को. सुभाष चंद्र को भुलाने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी. लेकिन पीएम मोदी सुभाष बाबू के जीवन, देशभक्ति और उनके बंगाल को अमर करने के लिए अंडमान के टापू का नाम सुभाष जी के नाम पर रखने का फैसला किया है.

HIGHLIGHTS

-विपक्ष की रैली में एक बार भी भारत माता का नारा नहीं लगा, वंदे मातरम का नारा नहीं लगा, बस मोदी-मोदी-मोदी होता रहा।
-एक बार यहां कमल खिला दीजिए, एक भी घुसपैठिया यहां घुस नहीं सकता। विदेशी भी पैर नहीं रख सकता अगर भाजपा की सरकार बन जाए।
-हिंदू, ईसाई, सिख जो बांग्लादेश, अफगानिस्तान, पाकिस्तान से आए हैं उन्हें हम नागरिकता देने का काम करेंगे।
-बांग्लादेश से जो शरणार्थी आए हैं वो जवाब चाहते हैं कि आप नागरिकता बिल का समर्थन करेंगे या नहीं, मुझे भरोसा है कि वो नहीं करेंगे। वो लोकसभा से वॉकआउट करेंगे क्योंकि उनका वोट बैंक चला जाएगा।
-प, बंगाल में ही दुर्गा विसर्जन की अनुमति नहीं है। सरस्वती पूजन के लिए प्रतिबंध, दुर्गा विसर्जन के लिए हमले होते हैं, क्या आप ऐसा बंगाल चाहते हैं क्या। इस तरह का बंगाल है, ये विवेकानंद का बंगाल है, टैगोर का बंगाल है, यहां हमें कोई नहीं रोक सकता।
-पहले यहां रवींद्र संगीत गूंजता था, आज बम धमाके सुनाई देते हैं। यहां बम की फैक्टरी चलती है, हम इसे बंद करना चाहते हैं। हमारी सरकार विकास का कारखाना है। ममता दी, जितना कीचड़ फैलाओगे, कमल उतना ही खिलेगा। हमारी पार्टी इससे घबराती नहीं है।
-जो 70 सालों में नहीं हुआ वो पीएम मोदी ने 5 साल में कर दिखाया।
-हम आयुष्मान भारत का लाभ देना चाहते हैं, 5 लाख रुपये इलाज के लिए मिलते हैं लेकिन उनके लोग, नेता, एमपी पोस्ट ऑफिस पहुंचकर कार्ड छीन लेते हैं। ममता जी आयुष्मान योजना नहीं चाहती, ममता जी को सबक सिखाना पड़ेगा मित्रो।
-हम चाहते हैं भ्रष्टाचार हटे, गरीबी हटे, बीमारी हटे, वो चाहते हैं मोदी हट जाए। हम चाहते हैं देश सुरक्षित हो, वो कहते हैं मोदी हटे।
-ममता जी, कुछ लोगों को जमा करके मोदी जी को नहीं हटा सकते हैं। देश की जनता मोदी जी के साथ चट्टान की तरह खड़ी है।
-गठबंधन के नेता चाहते हैं कि देश में मजबूर, कमजोर सरकार हो। लेकिन हम चाहते हैं कि ऐसी मजबूत सरकार हो जो पाकिस्तान के दांत खट्टे कर दे।
-मजबूत सरकार नरेंद्र मोदी ही दे सकते हैं, और कोई नहीं दे सकता।
-23 लोग जो ब्रिग्रेड मैदान में बैठे थे उसमें से 9 प्रधानमंत्री बनने बैठे थे। हमारे यहां एक ही नेता है। पूरा एनडीए नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चट्टान की तरह खड़ा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here