लखनऊ में माफिया मुख्तार अंसारी के बेटों की दो इमारतें ध्वस्त

LDA ने गुरुवार को माफिया मुख्यतार अंसारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। डालीबाग में लगभग दस हजार वर्ग फुट क्षेत्रफल में बने दो बिल्डिंग को जमीदोज कर दिया।

0
1069

Lucknow: लखनऊ विकास प्राधिकरण (LDA) ने गुरुवार को माफिया मुख्यतार अंसारी (Mukhtar Ansari) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। डालीबाग में लगभग दस हजार वर्ग फुट क्षेत्रफल में बने दो बिल्डिंग को जमीदोज कर दिया। यह बिल्डिंग शत्रु सम्पत्ति पर बनी थी जो मुख्तार ने फर्जी तरीके से अपनी मां के नाम करा ली थी। बाद में उसने अपने दो पुत्रों अब्बास अंसारी व उमर अंसारी के नाम करा दिया था। दोनों बिल्डंग बिना नक्शा के अवैध तरीके से बनाई गई थी।

दोनों बिल्डिंग को गिराने के लिए LDA की विहित प्राधिकारी ऋतु सुहास ने 11 अगस्त को ढहाने का आदेश दिया था। आदेश के अनुपालन में गुरुवार को सुबह लगभग छह बजे प्रशासन व पुलिस बल के साथ एलडीए के अधिकारी 20 से ज्यादा बुलडोजर लेकर सुबह लगभग छह बजे ही मौके पर पहुंच गए। यहां एक बिल्डंग में ताला बंद था। जबकि दूसरे में एक परिवार रह रहा था। उनको तत्काल घर खाली करने का फरमान सुनाया। एलडीए के कर्मचारियों ने झटपट तरीके से बिल्डंग से सामान बाहर किया। दूसरी बिल्डिंग का प्रशासनिक अधिकाररियों की मौजूदगी में ताड़ा तोड़ दिया गया।

कार्रवाई की भनक लगते ही वहां कुछ लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। LDA व प्रशासनिक अधिकारियों से झड़प शुरू होने लगी। लेकिन ढाई सौ से अधिक संख्या में मौजूद पुलिस बल ने उन्हें खदेड़ दिया। बुलडोजर से बिल्डिंग को गिराने की कार्रवाई शुरू हुई। कुछ ही देर में तीन मंजिला बिडिंग भरभराकर जमीदोज हो गई। कार्रवाई के बाद LDA व प्रशासन के अधकारी वापस चले गए। एहतियात के तौर पर वहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

बिल्डिंग को गराने की तैयारी इतनी गुपचुप तरीके से की गई कि किसी को भनक तक नहीं लगने पाई। बुधवार की रात में ही पूरी तैयारी कर ली गई थी। LDA, पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को सुबह ही कार्रवाई करने का फरमान जारी कर दिया गया था। अधिकारियों का डर था कि कार्रवाई की भनक लगी तो वहां बड़े स्तर पर विरोध हो सकता है

दरअसल, यूपी पुलिस का शिकंजा मुख्तार गैंग पर कसता जा रहा है। पूर्वांचल से लखनऊ तक मुख्तार से जुड़े लोगों पर पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने बताया कि मुख्तार अंसारी गिरोह के निकट सहयोगी के रूप में चिन्हित 12 लोगों को जिला बदर किया गया है।

इसमें अल्तमश निवासी साकिन अस्तुपुरा, थाना दक्षिण टोला, अनीस निवासी साकिन मदनपुरा थाना दक्षिण टोला, मोहर सिंह निवासी भदीड़ थाना मुहम्मदाबाद गोहना, जुल्फेकार कुरैशी निवासी बड़ागांव थाना घोसी, तारिक निवासी डोमनपुरा चमनपुरा थाना दक्षिण टोला, मोहम्मद सलमान निवासी डोमनपुरा थाना दक्षिण टोला, आमिर हमजा निवासी साकिन डोमनपुर, थाना दक्षिण टोला, मोहम्मद तलहा निवासी डोमनपुरा थाना दक्षिणटोला, जावेद आरजू निवासी दमादनगर डोमनपुरा, थाना दक्षिण टोला, मोहम्मद हाशिम निवासी मिर्जाहादीपुरा थाना दक्षिण टोला, राशिद निवासी मिर्जाहादीपुरा, थाना दक्षिण टोला को जिला बदर किया गया है।

वहीं दूसरी तरफ अनुज कनौजिया निवासी नवापुरा बहलोलपुर, थाना चिरैयाकोट इसको मुख्तार अंसारी का शार्प शूटर के रूप में चिन्हित किया गया है। अनुज कन्नौजिया को भी छह माह के लिए जिला बदर किया गया है। इसके खिलाफ विभिन्न गंभीर धाराओं में 19 मुकदमा दर्ज किया गया है। नवागत पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने कहा कि किसी भी कीमत पर संगठित अपराध को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। संगठित अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here