Bharat Bandh : देशभर में 10 ट्रेड यूनियनों की हड़ताल, प्रभावित हो सकतीं हैं बैंक सेवाएं

CPM से जुड़े CITU ने दावा किया है कि इस देशव्यापी हड़ताल में करीब 25 करोड़ कर्मचारी हिस्सा लेंगे. सरकार ने भारत बंद को ध्यान में रखते हुए बुधवार को स्कूल, कालेजों में छुट्टी घोषित कर दिया है।

0
726

मोदी सरकार के विनिवेश, निजीकरण और श्रम सुधार नीतियों के खिलाफ 10 केंद्रीय व्यापार संघ बुधवार को देशव्यापी आम हड़ताल करेंगे. CPM से जुड़े CITU ने दावा किया है कि इस देशव्यापी हड़ताल में करीब 25 करोड़ कर्मचारी हिस्सा लेंगे. इसमें INTUC, AITUC, HMS, CITU, AIUTUC, TUCC, SEWA, AICCTU, LPF, UTUC के साथ-साथ क्षेत्रीय स्वतंत्र महासंघों और संघों के कार्यकर्ता आम हड़ताल में भाग लेंगे.

सरकार ने भारत बंद को ध्यान में रखते हुए बुधवार को स्कूल, कालेजों में छुट्टी घोषित कर दिया है। राज्य शिक्षा विभाग की तरफ से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बुधवार को शिक्षण संस्थान बंद रखने की जानकारी दी गई है।

श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने पिछले हफ्ते एक बैठक की, लेकिन केंद्रीय व्यापार संघों को अपनी हड़ताल बंद करने के लिए मनाने में विफल रहे. CITU द्वारा जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, 4 साल से अधिक का समय हो गया, लेकिन जुलाई 2015 के बाद से कोई भी भारतीय श्रम सम्मेलन आयोजित नहीं किया गया. आखिरी बार अगस्त 2015 में मंत्रियों के समूह के साथ 12 बिंदुओं पर चर्चा की गई थी. तब से उस संबंध में कुछ भी आगे नहीं बढ़ा.

CITU के भुवनेश्वर अध्यक्ष नवकिशोर महांती ने कहा है कि बंद को सफल बनाने के लिए पूरा प्रयास किया गया है। राज्य सरकार से भी बंद का समर्थन करने के लिए हमने अनुरोध किया है। सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक यह बंद पालन किया जाएगा। आवश्यकीय सेवा को छोड़कर परिवहन सेवा को पूरी तरह से ठप कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here