नवाज़ शरीफ के कबूल नामे के बाद 10 साल बाद फिर शुरू हुआ 26/11 केस

0
402
NWAJ SHREF

हालही में पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ के 26/11 मुंबई हमले के कबूलनामे के बाद आतंकरोधी अदालत में 10 साल बाद दोबारा शुरू किया जा रहा है। साथ ही कोर्ट ने इसी मामले पर एक्शन लेते हुए दो पाकिस्तानी गवाहों को अभियोजना के लिए बुलाया है। पाकिस्तान के पूर्व सीएम के कबूलनामे और केस के 10 साल बाद उजागर होने के बाद पाकिस्तान में काफी हलचल मच गई है दरअसल, नवाज शरीफ ने एक इंटरव्यू में माना था कि यह हमला पाकिस्तानी आतंकियों ने किया था और इसकी सुनवाई में देरी के लिए सरकार और सेना को जिम्मेदार ठहराया था।

बता दें कोर्ट ने बुधवार को सरकारी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि 27 भारतीय गवाहों की मौजूदगी के संबंध में सभी जानकारियां अगली सुनवाई तक अदालत को दी जाएं। आतंकरोधी अदालत के जज शाहरुख अर्जुमंद ने केस की सुनवाई करते कहा, ‘फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी और गृह तथा विदेश मंत्रालय को लगातार नोटिस जारी करने के बावजूद, जनवरी 2016 से अब तक कोर्ट को भारतीय गवाहों के बारे में जानकारी नहीं दी गई है।’

साथ ही कोर्ट ने कहा नवाज़ शरीफ की इस व्याख्यान के बाद यह केस आखिरी चरण ले चुका है। केस का पूरा नतीजा निकलने के लिए सिर्फ 2 पाकिस्तानी अधिकारीयों के बयान दर्ज होना बाकि है। कोर्ट ने FIA के DG, होम मिनिस्टर और विदेश मंत्री को नोटिस जारी किया गया है। वे अपना ठोस और आखिर जवाब कोर्ट में दर्ज करें और 27 भारतीय गवाहों की मौजूदगी के बारे में भी बताएं ताकि सुनवाई को जल्द से जल्द पूरा किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here