Google पर 373 अरब का जुर्माना लगा!!

0
381

यूरोपीय संघ ने गूगल पर बाजार में अपनी बादशाहत का नाजायज फायदा उठाने का आरोप लगाया है। मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रायड के जरिये दूसरी कंपनियों को हाशिये पर धकेलने के आरोप में वह गूगल पर रिकॉर्ड 373 अरब रुपये का जुर्माना लगाने की तैयारी कर रहा है।

यूरोपीय संघ की प्रतिस्पर्धा आयुक्त मार्गरेट वेस्टगर ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को मंगलवार रात फोन कर कार्रवाई की अग्रिम जानकारी दी है। ऐसी आशंका है कि इससे अमेरिका और यूरोपीय संघ के बीच व्यापार युद्ध को लेकर तनाव बढ़ सकता है।

761 अरब हो सकता है जुर्माना
यूरोपीय सूत्रों के अनुसार, यह जुर्माना 761 अरब रुपये तक जा सकता है। नियमों के अनुसार गूगल पर मूल कंपनी अल्फाबेट के सालाना राजस्व के 10 प्रतिशत तक जुर्माना लग सकता है। अल्फाबेट का राजस्व 2017 में 110.90 अरब डॉलर रहा था।

फेसबुक और व्हाट्सएप पर भी गाज गिरेगी
यूरोपीय संघ के नए गोपनीयता कानून जीडीपीआर के उल्लंघन पर फेसबुक और उसकी कंपनी व्हाट्सएप के साथ इंस्टाग्राम पर भी गाज गिर सकती है। फेसबुक पर 111 अरब रुपये से ज्यादा का जुर्माना लग सकता है।

जीडीपीआर ने मनमानी पर रोक लगाई
यूरोपीय संघ ने 25 मई से जीडीपीआर एक्ट लागू किया है, जिसमें इंटरनेट यूजरों को उनकी निजी सूचनाओं पर पूरा अधिकार दिया गया है। कंपनियां बिना इजाजत यूजर के डाटा का व्यावसायिक इस्तेमाल नहीं कर सकतीं।

भारत में भी ऐसे कानून की मांग तेज
भारत में इंटरनेट यूजर को उनके डाटा के इस्तेमाल पर अधिकार देने की मांग तेज हो गई है। दूरसंचार नियामक ट्राई ने भी इसका पक्ष लिया है, इससे जुड़े कानून पर काम जारी है।

सैमसंग-हुवैई के साथ मिलकर बाजार बिगाड़ा
आरोप है कि गूगल ने सैमसंग और हुवेई जैसी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को उनके फोन में सर्च इंजन गूगल क्रोम समेत उसके कई एप को प्री इंस्टाल करने को मजबूर किया। इसके लिए पैसे दिए गए। इससे दूसरी कंपनियों को नुकसान हुआ।

एंड्रॉयड ओएस के फोन बेचने को कहा
अप्रैल में शिकायत दर्ज कराई गई थी कि गूगल फोन निर्माताओं को ऐसे फोन बेचने से रोक रहा है, या हेराफेरी कर रहा है, जिनमें एंड्रॉयड ओएस नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here