एक जुट हो रहा विपक्ष, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ कांग्रेस ला रही महाभियोग प्रस्ताव

0
390
DEEPAK MISHRA

दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग की कार्रवाई शुरू कराने की कवायद में जुटी है। हालांकि कांग्रेस की तरफ से इसकी पुष्टि नहीं हुई है लेकिन एनसीपी ने कहा है कि कांग्रेस ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। विपक्षी दल सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस यानी सीजेआई दीपक मिश्रा के खिलाफ संसद में महाभियोग प्रस्ताव लाने की तैयारी में हैं। उधर, समाजवादी पार्टी ने भी न्यायपालिका की स्वतंत्रता और अखंडता को बचाए रखने के नाम पर कांग्रेस के इस कदम के समर्थन का ऐलान किया है। एक तरह से इसपर विपक्ष को एकजुट करने की कवायद शुरू हो चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कांग्रेस ने महाभियोग प्रस्ताव का ड्राफ्ट विपक्षी दलों को बांटा है। एनसीपी नेता और सीनियर एडवोकेट माजिद मेनन ने दावा किया कि कांग्रेस इस पर दस्तखत कर चुकी है और एनसीपी भी समर्थन करेगी।

समाजवादी पार्टी के नेता घनश्याम तिवारी ने कहा है कि उनकी पार्टी महाभियोग प्रस्ताव के पक्ष में है। नेता नलिन कोहली, भाजपा अपने बयान में बताया कि इस महाभियोग प्रस्ताव न्यायपालिका के राजनीतिकरण की दिशा में उठाया गया कदम है। राजनीतिक रूप से संवेदनशील मामलों में चीफ जस्टिस की भूमिका सीमित करने के लिए यह प्रस्ताव लाया जा रहा है। डीपी त्रिपाठी ने कहा था कि कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू कर दी है। डीपी त्रिपाठी ने बताया कि चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया के ड्राफ्ट प्रपोजल पर कई विपक्षी पार्टियों ने हस्ताक्षर किए हैं।

एनसीपी महासचिव ने कहा कि, ‘एनसीपी, लेफ्ट पार्टी और मुझे लगता है कि टीएमसी व कांग्रेस ने भी इसपर साइन किया है।’ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के बीच हालिया मुलाकात के बाद यह डिवेलपमेंट सामने आया है। ममता और प्रशांत भूषण के बीच महाभियोग की प्रक्रिया को भी लेकर बात हुई थी। सूत्रों के अनुसार ड्राफ्ट में सीजेआई पर चुनिंदा जजों को मनमाने तरीके से केस आवंटित करने के लिए अथॉरिटी के दुरुपयोग का आरोप लगाया गया है। वहीं इसके पहले इश्यू में मिश्रा पर प्रसाद एजुकेशन ट्रस्ट मामले में रिश्वत लेने का भी आरोपी बनाया है। इस केस में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए न्यायपालिका में उच्च पदों पर रिश्वत दिए जाने का आरोप है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here