J&K- पुलवामा में सुरक्षाबलों ने नाकाम किया 2019 जैसा हमला, कार में था 20 किलो IED

सुरक्षा बलों का कहना है कि IED को कार से अलग न कर पाने की स्थिति में ही इसे कार के साथ ही विस्फोट कर उड़ा देना पड़ा जिस वजह से कार के परखच्चे उड़ गए.

0
611

जम्मू कश्मीर के पुलवामा (Pulwama) जिले में सुरक्षा बलों ने एक बड़े कार बम हमला होने से पहले ही रोक लिया. जिस कार को सुरक्षाबलों ने रोका उसमें 20 किलो से अधिक IED रखा हुआ था, जिससे घातक हमला हो सकता था.

पुलिस ने बताया कि फर्जी रजिस्ट्रेशन नंबर वाली कार के बारे में जानकारी मिलने पर गुरुवार की सुबह चेक प्वाइंटर पर गाड़ी रोकी, लेकिन कार की रफ्तार बड़ा दी और बैरिकेड्स तोड़कर चली गई.

पुलवामा के राजपोरा के आयनगुंड में सेना, CRPF और जम्मू कश्मीर पुलिस ने कार बम विस्फोट करने की साजिश को नाकाम कर दिया. जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को 4-5 दिन पहले ही पता चल गया था कि एक कार में IED फिट करके रखा गया है. खुफिया सूत्रों से जानकारी मिली कि आतंकियों की मंशा कार बम विस्फोट कर सुरक्षाबलों के काफिलों पर आत्मघाती हमला करना था.

आज सुबह दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के राजपोरा में आयनगुंड गांव में एक सड़क किनारे यह सेंट्रो कार लावारिस अवस्था में मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने संयुक्त रूप से अभियान छेड़ कर बम स्क्वाड की मदद से इस IED को नष्ट कर दिया. सुरक्षा बलों का कहना है कि IED को कार से अलग न कर पाने की स्थिति में ही इसे कार के साथ ही विस्फोट कर उड़ा देना पड़ा जिस वजह से कार के परखच्चे उड़ गए.

पुलिस के इंस्पेक्टर जनरल विजय कुमार ने कहा, ”सुरक्षा बलों ने गोलियां चलाईं, लेकिन ड्राइवर फरार हो गया. हालांकि IED से भरे कार को छोड़कर गया.” उन्होंने आगे कहा, ”हमें संभावित हमले के बारे में खुफिया जानकारी मिली थी. हम कल से ही IED के साथ एक वाहन की तलाश कर रहे थे.”

IED के साथ कार को बाद में बम निरोधक दस्ते द्वारा नष्ट कर दिया गया. भारी विस्फोट की वजह से इलाके में कुछ घरों को नुकसान पहुंचा. अधिकारी ने बताया कि यह आर्मी, पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्सेस के साथ एक संयुक्त ऑपरेशन था.

पिछले साल फरवरी महीने में CRPF के 40 जवान सुसाइड IED हमले में इसी जिले में शहीद हुए थे. जिसके बाद भारत ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कई कैंपों को बम से तबाह कर दिया था.

पिछले दो महीनों में जम्मू-कश्मीर में कई बार आतंकी हमले हुए, जिसमें अधिकारियों समेत 30 जवानों ने अपनी जान गंवा दी. हालांकि इस दौरान सुरक्षा बलों ने 38 आतंकियों को मार गिराया.

पुलवामा में इसी महीने के शुरुआत में कश्मीर के मोस्ट वांटेड के लिस्ट में शामिल और आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का कंमाडर आतंकी रियाज नाइकू को मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बलों ने मार गिराया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here