“अच्छा होगा यदि नेताजी को PM बनने का सम्मान मिलता है, मुझे लगता है, वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल नहीं हैं.” – Akhilesh Yadav

अखिलेश यादव ने कहा, 'मैं लोकसभा में SP के सांसदों की संख्या को बढ़ाना चाहता हूं. मैं उन लोगों में शुमार होना चाहता हूं, तो देश का नया प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं.

0
186

न्यूज एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा, ‘हमारा गठबंधन भारत को नया प्रधानमंत्री देना चाहता है. जब अंतिम नतीजे सामने आ जाएंगे, तब पार्टी प्रधानमंत्री पद के बारे में तय करेगी. अच्छा होगा, यदि नेताजी को यह सम्मान मिलता है, लेकिन मुझे लगता है, वह संभवतः प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल नहीं हैं.”

अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैं लोकसभा में SP के सांसदों की संख्या को बढ़ाना चाहता हूं. मैं उन लोगों में शुमार होना चाहता हूं, तो देश का नया प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं. मैं चाहता हूं कि केंद्र की अगली सरकार के गठन में उत्तर प्रदेश का योगदान हो.’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के BJP द्वारा SP और BSP को नियंत्रित किए जाने के दावे के बारे में अखिलेश यादव ने कहा, ‘हमें कोई कंट्रोल नहीं करता. हम राजनैतिक दल हैं. SP, BSP और RLD का गठबंधन ही सत्तारूढ़ पार्टी को उत्तर प्रदेश में झटका देने जा रहा है. हमारा गठबंधन ही BJP की बुरी नीतियों पर रोक लगाएगा.”

राजनैतिक विश्लेषकों द्वारा उत्तर प्रदेश के SP-BSP-RLD गठबंधन को कांग्रेस की ‘बी’ टीम बताए जाने के बारे में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, BJP और कांग्रेस में कोई फर्क नहीं है. कांग्रेस दरअसल BJP को फायदा पहुंचाना चाहती है. किसने केंद्रीय एजेंसियों को विपक्षी नेताओं को डराना सिखाया. BJP ने कांग्रेस से ही विपक्षी नेताओं के खिलाफ ED, CBI तथा अन्य एजेंसियों का दुरुपयोग करना सीखा है.’

अखिलेश यादव ने कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उस दावे को खारिज किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा के वोट काटने के लिए कांग्रेस ने कमजोर उम्मीदवार उतारे हैं. लेकिन अखिलेश यादव ने उनके दावे को नकारते हुए कहते हैं कि लोग उनके साथ नहीं हैं ऐसे में यह एक बहाना है. अखिलेश ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि कांग्रेस ने कहीं भी कमजोर उम्मीदवार उतारे हैं. किसी भी पार्टी ने ऐसा नहीं किया. लोग उनके साथ नहीं हैं. इसलिए वे बहाने बना रहे हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here