अखिलेश यादव- मुख्यमंत्री योगी को कैसे पता है कि क्या होने वाला है?’

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी अयोध्या मामले में जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिलने की बात कर रहे हैं. मुख्यमंत्री को कैसे मालूम है कि अदालत में क्या होने वाला है?

0
238

समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) द्वारा कथित रूप से अयोध्या मामले (Ayodhya) में बहुत जल्द ‘बड़ी खुशखबरी’ मिलने के दावे पर रविवार को सवाल उठाए.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि मुख्यमंत्री को कैसे मालूम है कि अदालत में क्या होने वाला है? अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी अयोध्या मामले में जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिलने की बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘भाजपा संविधान और देश के कानून पर कम भरोसा करती है. हमने हमेशा यही कहा कि अदालत जो फैसला लेगी उसे पूरा देश मानेगा. सवाल यह है कि एक अखबार को कैसे वो चीजें पता हैं? मुख्यमंत्री को कैसे पता है कि क्या होने वाला है?’

मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi Adityanath) ने ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ जी महाराज की स्मृति में गोरखपुर के चम्पादेवी पार्क, तारामंडल में आयोजित रामकथा की शनिवार को शुरुआत करते हुए राम मंदिर मुद्दे की तरफ इशारा करते हुए कोई नाम लिए बिना कहा था कि बहुत जल्द ”बड़ी खुशखबरी” मिलने वाली है. इसके अलावा अखिलेश ने प्रदेश सरकार पर डीजे बजाने के कारोबार से जुड़े एक करोड़ लोगों को बेरोजगार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांवड़ यात्रा और अन्य धार्मिक आयोजनों में डीजे पर कोई प्रतिबंध न होने का दावा करने वाले मुख्यमंत्री योगी की सरकार ने डीजे पर पाबंदी लगा दी है.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि इलाहाबाद डीजे वेलफेयर एसोसिएशन के लोगों ने उनसे मुलाकात की थी. वे सरकार की शिकायत करना चाहते हैं. यूपी में इस कारोबार से लगभग एक करोड़ लोग जुड़े हैं. उन्हें सरकार ने बेरोजगार कर दिया है.

अखिलेश ने कहा कि देश को आजाद कराने वाले लोगों ने संकल्प लिया था कि हम विदेशी चीजों को नहीं अपनायेंगे. मगर सरकार तो निजीकरण में ही लगी हुई है. यह तो शुरुआती निजीकरण है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अभी देखिये क्या-क्या होगा. दलितों को नौकरी और रोजगार के मौकों से दूर कर दिया जाएगा.’

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित विधानमंडल के 36 घंटे के अनवरत सत्र पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार ने इस दौरान सदन में विभिन्न विकास परियोजनाओं को लेकर तमाम झूठ बोले हैं. उन्होंने कहा कि आज आलम यह है कि नीति आयोग की रैंकिंग के मुताबिक उत्तर प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में सबसे नीचे और कुपोषण के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here