अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी को Twitter पर भेजा इस्तीफा।

अलका लांबा (Alka Lamba) और पार्टी के बीच दूरियां तब आनी शुरू हुईं जब उन्होंने दिल्ली विधानसभा में राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने वाले प्रस्ताव का विरोध किया था।

0
431

दिल्ली के चांदनी चौक (Chandni Chowk) से आप विधायक अलका लांबा (Alka Lamba) ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही पार्टी के साथ उनका सफर यहीं खत्म हो गया है।

इस्तीफे की जानकारी खुद अलका ने अपने Twitter अकाउंट पर दी। उन्होंने लिखा, ‘अब आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को अलविदा कहने और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा देने का समय आ गया है। पिछले 6 साल का सफर मेरे लिए काफी सीखने वाला रहा। सभी का शुक्रिया। जय हिंद।’

अलका ने एक अन्य Tweet में लिखा, अरविंद केजरीवाल जी आपके प्रवक्ता ने आपकी इच्छानुसार पूरे घमंड से मुझसे कहा था कि पार्टी मेरा इस्तीफा Twitter पर भी स्वीकार कर लेगी। इसलिए कृपया करके ‘आम आदमी पार्टी’ जो ‘अब खास आदमी पार्टी’ बन चुकी है, की प्राथमिक सदस्यता से मेरा इस्तीफा स्वीकार कीजिए।

गौरतलब है कि यह बात बहुत पहले ही तय हो गई थी कि अलका लांबा (Alka Lamba) पार्टी से कभी भी इस्तीफा दे सकती हैं। लांबा और पार्टी के बीच काफी समय से चीजें खराब चल रही थीं। यहां तक आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उन्हें सोशल मीडिया से अनफॉलो भी कर दिया था।

दरअसल अलका लांबा (Alka Lamba) और पार्टी के बीच दूरियां तब आनी शुरू हुईं जब उन्होंने दिल्ली विधानसभा में राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने वाले प्रस्ताव का विरोध किया था। इसके बाद से ही लांबा और आम आदमी पार्टी के बीच तल्खियां आनी शुरू हो गई थीं।

उन्हें कई बार आप के नेताओं से Twitter वार में उलझते देखा गया। यहां तक कि एक नेता ने तो उनके इस्तीफे की बात पर ये भी कहा था कि इस्तीफा ट्विटर पर भी स्वीकार कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here