Coronavirus के चलते दिल्ली में सभी प्राइमरी स्कूल बंद, दुनिया भर में अबतक 3,200 से ज्यादा लोगों की मौत

कोरोना वायरस के चलते दिल्ली में सभी प्राइमरी स्कूलों (Primary Schools) को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। वहीं गाजियाबाद में भी एक कोरोना मरीज की पुष्टि हुई है।

0
644

Coronavirus: कोरोना वायरस के चलते दिल्ली में सभी प्राइमरी स्कूलों (Primary Schools) को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। वहीं गाजियाबाद में भी एक कोरोना मरीज की पुष्टि हुई है। मरीज अभी दिल्ली के RML अस्पताल में भर्ती है। इसी के साथ ही देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) ग्रस्त मरीजों की संख्या 30 हो चुकी है। बृहस्पतिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्रैवल एडवाइजरी जारी करते हुए इटली और कोरिया से भारत आने वालों को कोरोना वायरस निगेटिव जांच रिपोर्ट लाना अनिवार्य कर दिया है।

इसके अलावा सभी राज्यों को आदेश रैपिड एक्शन कमेटी (Rapid Action Committee) गठित करने और जिला कलेक्टर की निगरानी में ब्लॉक व ग्राम स्तर पर टीमें तैनात करने के निर्देश भी दिए हैं। देर शाम केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की अध्यक्षता में दिल्ली के सभी निजी अस्पतालों के साथ कोरोना वायरस के प्रबंधन पर बैठक जारी है। सरकार ने निजी अस्पतालों से भी ऐसे हालातों से निपटने के लिए मदद मांगी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गाजियाबाद के जिस शख्स में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है, वह गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन का रहने वाला है। मरीज 23 फरवरी को ईरान की राजधानी तेहरान से वापस लौटे थे। फिलहाल राजधानी दिल्ली के आरएमएल अस्पताल में मरीज का इलाज चल रहा है।

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने सोशल मीडिया पर लिखा कि आगामी 31 मार्च तक दिल्ली के सभी प्राइमरी स्कूलों को बंद कर दिया है। दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस का एक पॉजीटिव मरीज मिला है। उधर गुडग़ांव में एक मरीज मिलने के बाद निजी कंपनी के अन्य कर्मचारियों ने नई दिल्ली स्थित आरएमएल अस्पताल आकर जांच कराना शुरू कर दिया है।

इस दौरान RML अस्पताल में खुलेआम ही संदिग्ध मरीजों की जांच हो रही थी जिसे लेकर गंभीर सवाल भी खड़े हुए हैं। एक ओर जहां सरकार संदिग्ध मरीजों के लिए आइसोलेशन को सबसे जरूरी मान रही है। वहीं उन्हीं के अस्पताल में अन्य मरीजों के साथ इनकी जांच की जा रही है। इसके अलावा दिल्ली सरकार ने अपने सभी दफ्तरों में बायोमीट्रिक अटेंडेंस पर भी रोक लगा दी है। सभी विभागों को आदेश जारी हुए हैं कि फिलहाल कर्मचारियों की उपस्थिति अस्थायी तौर पर रजिस्टर में दर्ज की जाएगी।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए राजधानी के 25 सरकारी और निजी अस्पतालों में 230 बिस्तरों को आरक्षित किया है। आरएमएल और सफदरजंग अस्पताल को नोडल केंद्र बनाया गया है। RML और सफदरजंग के अलावा NCDC सेंटर पर कोरोना वायरस (Coronavirus) की जांच चल रही है। सफदरजंग अस्पताल प्रबंधन के अनुसार बृहस्पतिवार को आठ और संदिग्ध मरीज भर्ती हुए हैं। यहां फिलहाल 9 कोरोना वायरस (Coronavirus) के पॉजीटिव मरीज उपचाराधीन हैं। इनसब के बीच दिल्ली के छाबला स्थित ITBP शिविर में दो सप्ताह से मौजूद करीब 106 लोगों की दोबारा जांच के लिए सैंपल पुणे स्थित प्रयोगशाला में भेजे गए हैं।

दरअसल भारत में कोरोना को रोकने के लिए काफी समय से तैयारी चल रही है। पीएम मोदी और राष्ट्रपति भवन में होली के कार्यक्रमों को भी रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा पीएम मोदी (PM Modi) का ब्रसेल्स दौरा भी फिलहाल टल गया है। दुनिया भर में 3,200 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस से हो चुकी है। अकेले चीन में ही 3 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। अभी तक दुनियाभर में कोरोना के 95 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। दुनिया के 85 देशों में कोरोना अपने पांव पसार चुका है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गुरुवार को कहा कि बहुत से देश घातक कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए सभी उपाय नहीं कर रहे हैं। डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रॉस ए गेब्रेयेसस ने जिनेवा में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें इस बात की चिंता है कि ऐसे देशों की सूची लंबी है जो उस स्तर की राजनीतिक प्रतिबद्धता नहीं दिखा रहे हैं जो इस खतरे से निपटने के लिए आवश्यक है।

नोएडा सेक्टर-54 स्थित पेटीएम कंपनी के एक कर्मचारी में कोरोना वायरस (Coronavirus) की पुष्टि होने के बाद जिले लोगों में कोरोना का भय और बढ़ गया है। पेटीएम कंपनी के कर्मचारी में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद शहर की ही एक निजी कंपनी में कार्यरत उनकी पत्नी में भी कोरोना के संदिग्ध लक्षण देखने को मिले हैं, जिससे सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है। जिला स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दंपती छुट्टियां मनाने के लिए इटली गए हुए थे। वहां से लौटने के बाद सबसे पहले Paytm कर्मचारी में कोरोना (Coronavirus) के लक्षण दिखे, जिसमें जांच के बाद कोरोना की पुष्टि हो गई।

वहीं बाद में उनकी पत्नी में भी कोरोना (Coronavirus) के लक्षण देखने को मिले हैं, जिनका सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, ब्लैकरॉक कंपनी में कार्यरत महिला में कोरोना की पुष्टि होने की आशंका है। सूत्रों के मुताबिक, एक कर्मचारी में कोरोना की पुष्टि होने के बाद सेक्टर-54 स्थित Paytm कार्यालय 15 दिनों के लिए अस्थाई तौर पर बंद करा दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि जिला स्वास्थ्य विभाग कोरोना (Coronavirus) को लेकर काफी सतर्कता बरत रहा है, जिसके तहत शासकीय व निजी अस्पतालों में आने वाले मरीजों में कोरोना के संदिग्ध लक्षण दिखने पर उनकी तत्काल प्राथमिक जांच की जा रही है। वहीं, गंभीर लक्षण दिखने वाले मरीजों से सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है।

खास बात यह है कि अधिकांश मामलों में विदेश से आने वाले लोगों के जरिए कोरोना वायरस (Coronavirus) अन्य लोगों में फैलने की बात सामने आ रही है। इसी क्रम में बृहस्पतिवार को पालम विहार स्थित एक निजी अस्पताल में भी करीब आधा दर्जन मरीजों से सैंपल लिए गए। नाम न छापने की शर्त पर अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि मलयेशिया से घूमकर आए एक दंपती में कोरोना के संदिग्ध लक्षण देखे जाने पर दोनों से सैंपल लिए गए।

बाद में उनके परिवार के अन्य सदस्यों में भी सर्दी-जुखाम के लक्षण नजर आने पर उनसे भी सैंपल ले लिया गया है। हालांकि, अभी जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। वहीं, जिला स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों को बृहस्पतिवार को दोबारा निर्देश जारी कर कोरोना के सभी संदिग्ध मरीजों की जानकारी देने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here