मुकेश अम्बानी ने चुकाये Ericsson के 550 करोड़ रुपये, मदद के लिए अनिल अम्बानी ने आभार प्रगट किया

बड़े भाई मुकेश अंबानी ने छोटे भाई अनिल अंबानी को सहारा दिया और एरिक्सन (Ericsson) के बकाये के भुगतान में मदद की.

0
284

आखिर मुसीबत के समय भाई ही भाई के काम आया. संकट की घड़ी में बड़े भाई मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने छोटे भाई अनिल अंबानी (Anil Ambani) को सहारा दिया और एरिक्सन (Ericsson) के बकाये के भुगतान में मदद की.

अनिल अंबानी (Anil Ambani) ने सही समय पर मदद करने के लिए बड़े भाई मुकेश और भाभी नीता अंबानी का धन्यवाद किया और आभार जताया. दरअसल, यह मामला अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस पर दूरसंचार उपकरण बनाने वाली स्वीडन की कंपनी एरिक्सन के करीब 550 करोड़ रुपये के बकाया का निपटारा करने से जुड़ा है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक अनिल अंबानी को मंगलवार तक एरिक्सन का बकाया चुकाना था, अन्यथा उन्हें न्यायालय की मानहानि के मामले में जेल जाना पड़ता. बहरहाल, आरकॉम ने सोमवार को तय समयसीमा खत्म होने से मात्र एक दिन पहले ही एरिक्सन को 458.77 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान कर दिया. अनिल अंबानी के साथ-साथ आरकॉम की दो इकाइयों के चेयरमैन छाया विरानी और सतीश सेठ पर जेल जाने का खतरा मंडरा रहा था.

पिछले महीने इस मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इसे ‘जानबूझ कर भुगतान नहीं करने’ का मामला बताया और अंबानी को ‘अदालत की अवमानना’ का दोषी पाया. साथ ही कंपनी को आदेश दिया कि वह या तो चार हफ्ते के भीतर एरिक्सन के बकाये का भुगतान करे या अंबानी तीन माह जेल का कारावास भुगतें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here