असम: सिटिजन रजिस्टर का फाइनल ड्राफ्ट जारी, 40 लाख परिवारों के नाम बाहर

0
186

नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन का फाइनल ड्राफ्ट असम में सोमवार को जारी किया गया। इस लिस्ट में 2.89 करोड़ लोगों को नागरिकता के योग्य पाया गया, वहीं करीब 40 लाख लोगों के नाम इससे बाहर रखे गए हैं। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि जिन लोगों का नाम बाहर रखा गया है उनका क्या होगा। हालांकि, रजिस्ट्रार जनरल ने साफ किया है कि यह ड्राफ्ट है और इसे अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है। जिन लोगों के नाम इस लिस्ट में शामिल नहीं हुए हैं, उन्हें क्लेम करने और आपत्ति दर्ज करने का मौका है।

रजिस्ट्रार जनरल ने ड्राफ्ट करते हुए कहा, ‘मैं बार-बार जोर देकर स्पष्ट करना चाहूंगा कि यह लिस्ट फाइनल नहीं है और क्लेम और आपत्तियां दर्ज की जाएंगी। दरअसल 3,29,91,380 लोगों ने नागरिकता के लिए आवेदन किया था, जिनमें से 2,89,38, 677 को नागरिकता के लिए योग्य पाया गया है। जिनका नाम इस लिस्ट में नहीं आया है, उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। भारत के किसी भी वैध नागरिक के साथ कोई अन्याय नहीं होगा।’ उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी तैयारी है और आम नागरिकों को किसी भी तरह के अफवाह से डरने की जरूरत नहीं है।
ड्राफ्ट जारी करते हुए कहा गया कि ऐसे लोग जिनकी जागरूकता कम है और जिन्हें मदद की जरूरत है उन्हें कैंपेन के जरिए मदद की जाएगी। एनआरसी कोऑर्डिनेटर ने कहा, ‘केंद्रीय गृहमंत्री ने स्पष्ट किया है कि इस ड्राफ्ट में लिस्ट के आधार पर अभी किसी माइग्रेंट या जिनके नाम नहीं हैं उन्हें डिटेंशन सेंटर नहीं भेजा जाएगा। अभी लोगों के पास फिर से आवेदन का मौका है।’

नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन के बाद कितने लोगों के बेघर होने की उम्मीद है इस सवाल पर रजिस्ट्रार जनरल ने कहा, ‘हमारे पास 2011 के जनगणना के आंकड़े हैं। अभी ड्राफ्ट की पहली लिस्ट ही जारी की गई है और यह आखिरी लिस्ट नहीं है। इस आधार पर हम कोई भी आंकड़े आधिकारिक तौर पर जारी नहीं कर सकते हैं।’

निरंजन कुमार

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here