धनतेरस पर जगमगा गयी रामनगरी अयोध्या

दीपोत्सव से पूर्व गुरुवार की शाम से ही अयोध्या सज-संवर कर पूरी तरह से तैयार हो गई है। राम की पैड़ी के साथ धर्मनगरी की सड़कें व गलियां जगमग हैं।

0
1052

राम की नगरी अयोध्या धनतेरस के मौके पर ही जगमग हो गई है। छोटी दीपावली के मौके पर शुक्रवार को यहां दीपोत्सव मनाया जाएगा। इस दौरान राम की पैड़ी के घाटों पर एक साथ पांच लाख 50 हजार से अधिक दीपक जलाकर नया गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड बनेगा। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के मंदिर के सामने दीपक जलाकर विशेष पूजन करेंगे।

दीपोत्सव से पूर्व गुरुवार की शाम से ही अयोध्या सज-संवर कर पूरी तरह से तैयार हो गई है। राम की पैड़ी के साथ धर्मनगरी की सड़कें व गलियां जगमग हैं। सरयू का तट भी प्रकाश से आलोकित हो रहा है। दीपोत्सव-2020 का अनावरण करने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल लखनऊ से चलकर फैजाबाद हेलीपैड पर अपराह्न तीन बजकर पांच मिनट पर उतरेंगे। पुन: सड़क मार्ग से वह रामजन्मभूमि तीन बजकर दस मिनट पर पहुंचेंगे और पूजा-अर्चना के बाद रामकथा पार्क रवाना होंगे। अपराह्न 3.30 बजे वह प्रभु राम के स्वरुपों की अगवानी करेंगे और उन्हें रामकथा पार्क के मंच पर लेकर आएंगे।

यहां श्रीराम राज्याभिषेक समारोह अपराह्न 3.50 बजे से शुरु होकर सायं 5.30 बजे तक चलेगा। इस दौरान मुख्यमंत्री व राज्यपाल भगवान का राजतिलक करेंगी। दीपोत्सव पर डाक विभाग की ओर से जारी विशेष कवर का अनावरण करेंगे। समारोह को सम्बोधित भी करेंगे। फिर रामकथा पार्क से स्वर्गद्धार घाट के लिए प्रस्थान करेंगे और मां सरयू की आरती में हिस्सा लेंगे। सायं छह बजे यहां का कार्यक्रम खत्म कर मुख्यमंत्री व राज्यपाल दीपोत्सव के लिए रामपैड़ी पधारेंगे और छह बजकर पांच मिनट पर दीपोत्सव का शुभारम्भ करने मंच पर पहुंचेंगे।

यहां से राज्यपाल श्रीमती पटेल वापस लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगी। जबकि 7.20 बजे मुख्यमंत्री रामपैड़ी से निकलकर फिर रामकथा पार्क में रामलीला के मंचन का अवलोकन करने आएंगे। पुन: रात्रि आठ बजे वह सर्किट हाउस के लिए रवाना होंगे और रात्रि विश्राम करेंगे। इसके आगे का कार्यक्रम मुख्यमंत्री की सुविधा के अनुसार होगा।

मुख्यमंत्री रविवार की सुबह हनुमानगढ़ी में विराजमान हनुमंतलला का दर्शन करेंगे। कार्तिक कृष्ण चतुर्देशी के पर्व पर शनिवार की मध्यरात्रि में हनुमान जी की जयंती मनाई जाएगी। प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले जयंती पर्व पर मुख्यमंत्री यहां दर्शन के लिए आते रहे हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री रामलला के दरबार में भी हाजिरी लगाएंगे और पुन: वह कारसेवकपुरम में संत-महंतों व जनप्रतिनिधियों से शिष्टाचार भेंट कर पर्व की बधाई देंगे। इसके बाद वह गोरखपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

दिव्य दीपोत्सव के महाआयोजन में अयोध्या के राजकीय तुलसी उद्यान में सूचना एवम् जनसंपर्क विभाग उत्तर प्रदेश की तरफ से ‘तुलसी कथा रघुनाथ की’ प्रदर्शनी लगाई गई है। प्रदर्शनी में भगवान राम की समस्त लीलाओं का चित्रों के माध्यम से वर्णन किया गया है । जिसे देखने के लिए पंडाल पर प्रतिदिन हजारों लोग उमड़ रहे हैं।

प्रदेश के कलाकारों द्वारा बनाई गईं उम्दा चित्रकला प्रदर्शनी में राजसूय यज्ञ, राम जन्मोत्सव, राम विवाह, राम वन गमन, केवट प्रसंग, भरत द्वारा पदुका ग्रहण करना, सीताहरण, शबरी प्रसंग, लंका दहन, संजीवनी बूटी, रावण वध, राम राज्याभिषेक प्रसंग आदि के चित्र हृदय स्पर्शी हैं, जो पंडाल में आने वाले दर्शनार्थियों को त्रेतायुग में लेकर जाते हैं। तुलसी उद्यान में एक ओर जहां राम कथा सचित्र वर्णन है। वहीं बड़ी एल ई डी टीवी के माध्यम से रामायण का निरंतर प्रसारण हो रहा है। ये प्रदर्शिनी 11 नवम्बर से प्रारम्भ होकर 30 नवम्बर तक चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here