दिग्विजय सिंह के बयान पर भड़के रविशंकर प्रसाद।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह तो आतंकी को ओसामा जी कहते थे. अब पुलवामा हमले को दुर्घटना बता रहे हैं.

0
110

भारतीय वायुसेना (IAF) के बालाकोट (Balakot) में एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगे जाने पर BJP ने कांग्रेस पर हमला बोला है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा- क्या कांग्रेस नेताओं को भारतीय सेना की बहादुरी पर भरोसा नहीं है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) तो आतंकी को ओसामा जी कहते थे. अब पुलवामा हमले को दुर्घटना बता रहे हैं. ये जवानों की शहादत का मजाक है. जो यहां कहा जा रहा है वो पाकिस्तान में दिखाया जा रहा है. कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी वहां हेडलाइन है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि दिग्विजय सिंह को शर्म आनी चाहिए.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एक नकाबपोश ईवीएम (EVM) पर सवाल उठाता है, वहां सबूत नहीं मागते हैं, लेकिन सेना की कार्रवाई पर सबूत मांगते हैं. दूसरे नेता हैं चिदंबरम…उनका ट्वीट देख लीजिये. आज शहीदों के पिता कहते हैं कि एक बेटा और होता तो सरहद पर भेजते. ये देश का मूड है. कपिल सिब्बल और चिदंबरम विदेशी अखबार तो बहुत देखते हैं. उन्हें देश का अखबार भी देखना चाहिए. आज नरेंद्र मोदी (PM Modi) की अगुवाई में भारत ने पाकिस्तान को अलग-थलग कर दिया है. दुनिया में किसी भी देश ने भारत के एयर स्ट्राइक का सबूत नहीं मांगा है. कांग्रेस पार्टी का क्या कर रही है? उन्हें न सेना पर विश्वास है और न ही वायुसेना पर. वोट के लिए देश के मनोबल को कमजोर कर रहे हैं.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मैं कांग्रेस के नेताओं से अपील करता हूं कि अपनी ओछी राजनीति के लिए सेना का मनोबल कमजोर न करें. आखिर कांग्रेस को इतनी समझदारी क्यों नहीं बनती कि देश का मूड क्या है? उन्होंने कहा कि हम इतने अंदर घुस गए थे कि पाकिस्तान इनकार ही नहीं कर पाया. कहा कि खेत में बम गिराकर चले गए. क्या सिब्बल और चिदंबरम पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं? मुझे लगा कि दिग्विजय सिंह और सिब्बल सुधर जाएंगे, लेकिन दिग्विजय सिंह तो कमाल की चीज हैं. देश ऐसे लोगों को एक्सपोज करेगा. मैं पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि ऐसे नेताओं की करतूत को बेनकाब किया जाए. राहुल और सोनिया गांधी से जवाब मांगा जाए. ये बगैर सोनिया-राहुल की सहमति के नहीं बोल रहे हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here