सीसीटीवी में दिखी रेलिंग तोड़ गंगा नदी में समाती स्काॅर्पियों, इससे पहले गर्लफ्रेंड को घुमाने के बाद छोड़ा था घर

0
303

हाजीपुर से पटना की ओर तेजी से आ रही एक स्कॉर्पियो महात्मा गांधी सेतु की रेलिंग को तोड़ते हुए गंगा में समा गई। घटना मंगलवार सुबह करीब 5:30 बजे की है। मामले में सामने आया है कि स्कोर्पियो कंकड़बाग की पीसी कॉलोनी में रहने वाले डॉ. विपिन कुमार सिंह की है। उनका नौंवी में पढ़नेवाला छोटा बेटा आदर्श तड़के 3:16 बजे बिना किसी को सूचना दिए ये स्कॉर्पियो (बीआर 01 पीजे 2028) लेकर निकल गया था। परिस्थितजन्य साक्ष्य उसके सुसाइड की ओर इशारा कर रहे हैं। सिटी एसपी ईस्ट आरके भील ने कहा कि घटना से पहले उसने मां को सुबह करीब पांच बजे वाॅट्सएप से मैसेज भेजा था- “बाई मॉम, मेरे लिए मत रोना।” चर्चा है कि उसने एक दोस्त को कहा- “अब हम रहेंगे या नहीं रहेंगे, कोई नहीं जानता है। मुझे मत खोजना।” हालांकि, पुलिस अभी उसके सुसाइड की पुष्टि नहीं कर रही है।

गर्लफ्रेंड को घर छोड़ने के बाद किया सुसाइड!:जांच में सामने आया है कि आदर्श की गर्लफ्रेंड से इंस्टाग्राम पर चैट करने के दौरान अनबन हुई। वह मंगलवार की रात मां के साथ सोया था। इस बीच वह उठा। दबे पांव मोबाइल की लाइट जलाते और चैट करते नीचे आया। सुबह करीब 3:16 बजे स्कार्पियो (बीआर 01 पीजे 2028) लेकर बुद्धा काॅलोनी स्थित प्रेमिका के घर के पास पहुंचा। वहां से दोनों गाड़ी पर सवार होकर निकल गए। दोनों आयकर गोलंबर और आसपास घूमे। गाड़ी में ही किसी बात को लेकर उनमें नोकझोंक हुई। वह करीब 140 किमी की रफ्तार से गाड़ी चला रहा था। इस बीच आयकर गोलंबर के पास उसकी गाड़ी पोल से टकरा गई, जिससे गाड़ी का बंफर टूट गया। फिर वहां से आदर्श ने गर्लफ्रेंड को उसके घर छोड़ दिया। बांस घाट पहुंचा और फिर गांधी मैदान, अशोक राजपथ होते हुए धनुकी मोड़ गया। धुनकी मोड़ पर लगे सीसीटीवी कैमरे में उसकी गाड़ी की तस्वीर सवा पांच बजे कैद हुई। सूत्रों के अनुसार गांधी सेतु पर चढ़ने के बाद वह हाजीपुर तक नहीं गया, बल्कि बीच से ही कहीं वापस हो गया और उसके बाद तेज रफ्तार से 5:22 बजे पाया नंबर 38 के पास रेलिंग को तोड़ते हुए गंगा में समा गया।

लड़की ने कबूली आदर्श के आने की बात:मां के वाॅट्सएेप पर जब आदर्श का मैसेज आया कि “बाई मॉम, मेरे लिए मत रोना” तो परिजन बेहाल हो गए। गाड़ी देखी तो घर में नहीं थी। चेक किया गया तो पता चला कि उसने इंस्टाग्राम से बात की है। परिजनों ने कथित गर्लफ्रेंड और उसकी बड़ी बहन को फोन किया। पुलिस के मुताबिक थोड़ी देर में इंस्टग्राम से लड़की हट गई। भाई उसके घर भी पहुंचा। कुछ देर बार उसने मान लिया कि आदर्श आया था, पर कहां गया नहीं पता।

रिश्तेदार के यहां कंकड़बाग आती थी दोनों बहनों से थी दोस्ती:जिस लड़की की बात सामने आ रही है, वे दो बहनें हैं। बड़ी बहन से उसका किसी बात को लेकर मनमुटाव हो गया था, इसलिए बात नहीं हो रही थी। ये दोनों बहनें आदर्श के स्कूल में नहीं पढ़ती हैं। बड़ी बहन आठवीं, जबकि छोटी बहन, जिसे वह लेकर स्कार्पियो से निकला था, वह सातवीं की छात्रा है। दोनों बहनों के रिश्तेदार आदर्श के घर के आसपास रहते हैं। दोनों का वहां आना-जाना था।

गाड़ी तेज मत चलाना, आराम से जाना:पुलिस ने लड़की से घंटों तक पूछताछ की। उसने कहा कि वह कहां-कहां उसके साथ रात में घूमी। वह गाड़ी तेज चला रहा था। पुलिस के अनुसार गर्लफ्रेंड को जब उसने घर पर छोड़ा तो उसने आदर्श से कहा कि गाड़ी संभाल कर चलाना। आराम से घर जाना। आदर्श ने उससे कहा कि अब पापा गाड़ी चलाने नहीं देंगे। गाड़ी का बंफर टूट गया है।

पिता बाेले- दोनों बहनों के परिजनों नेअपहरण कर लिया:पिता ने कहा कि पुलिस दोनों बहनों व उसके परिजनों से ठीक से पूछताछ करें। लगता है कि उन्हीं लोगों ने बेटे को अगवा कर लिया। पुलिस मामले की बारीकी से छानबीन करे। उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि उसने मां को वाॅट्सएेप पर क्या मैसेज भेजा था। इधर, आदर्श का कुछ भी पता नहीं लगने पर घर वाले परेशान हैं। मां और बड़ी बहन का बुरा हाल है।

30 जुलाई से मोबाइल बंद है, दूसरे नंबर से चल रहा वाॅट्सएेप:पुलिस ने जब आदर्श के मोबाइल की जांच की तो वह 30 जुलाई से ही बंद मिला। दूसरे नंबर से वाॅट्सएेप और इंस्टाग्राम का इस्तेमाल हो रहा है। पुलिस उस नंबर को खंगालने में जुटी है।

6 बोट से 15 घंटे चला सर्च ऑपरेशन, नहीं मिली स्कॉर्पियो:महात्मा गांधी सेतु के पाया संख्या-38 से गिरी स्कॉर्पियो की तलाश में बुधवार को एनडीआरएफ की टीम ने छह बोट लेकर करीब 15 घंटे तक सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन कामयाबी नहीं मिल सकी। पानी में जगह-जगह रिवर क्रेन की सहायता भी ली गई, जबकि मैन्युअल सिस्टम के तहत गोताखोर को उसी जगह उतार गया, जहां से स्कॉर्पियाे गंगा में गिरी थी। एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि शाम 7 बजे के बाद अंधेरा होने पर सर्च ऑपरेशन को रोकना पड़ा है। गुरुवार की सुबह फिर से ऑपरेशन शुरू होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here