पटना में सफाई ठप, सड़कों पर कूड़ा जमा, नगर विकास मंत्री के घर के सामने फेंका मरा जानवर

सफाई कर्मियों ने गुरुवार को भी उग्र प्रदर्शन किया और नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री सुरेश शर्मा के एम स्टैंड रोड स्थित सरकारी आवास के सामने मरे हुए पशुओं को फेंक दिया।

0
349

Patna, Bihar- बिहार की राजधानी पटना (Patna) में दैनिक वेतनभोगी सफाई मजदूरों (Sanitation workers) की पिछले चार दिनों से जारी हड़ताल के चलते सड़कों पर करीब 2800 टन कूड़ा जमा हो गया है। सफाई कर्मियों ने गुरुवार को भी उग्र प्रदर्शन किया और नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री सुरेश शर्मा के एम स्टैंड रोड स्थित सरकारी आवास के सामने मरे हुए पशुओं को फेंक दिया। उनके सरकारी आवास के सामने कूड़ा भी बिखेर दिया। हड़ताल समर्थकों ने मंत्री के खिलाफ नारेबाजी की।

सफाई कर्मचारियों की यह हड़ताल नगर विकास विभाग के आउटसोर्सिंग पर सफाई मजदूर रखने के विरोध में और स्थायी सेवा की मांग है। इस हड़ताल में करीब 4300 सफाई कर्मियों शामिल है। इससे राजधानी की सड़कों पर पिछले चार दिनों में करीब 2800 टन कूड़ा जमा हो गया है। बदबू के बीच लोग चौक-चौराहों से गुजरने पर मजबूर हैं। पटना नगर निगम के अलावा गया, दरभंगा, छपरा, मधेपुरा, कटिहार, लखीसराय, बड़हिया, रक्सौल, समस्तीपुर नगर निकाय में सफाई कर्मियों की हड़ताल जारी है। हड़ताल की वजह से इन शहरों की सड़कों पर कूड़ा बिखरा पड़ा है। वहीं मुंगेर नगर निगम में हड़ताली समर्थकों ने ताला जड़ दिया।

दरभंगा नगर निगम, पूर्वी चंपारण की रक्सौल नगर परिषद, समस्तीपुर नगर परिषद के सफाई कर्मी हड़ताल पर डटे हुए हैं। हालांकि सीतामढ़ी नगर परिषद व पू. चंपारण की ढाका नगर परिषद के सफाई कर्मियों ने हड़ताल खत्म कर दी है। समस्तीपुर नगर परिषद क्षेत्र में पुलिस की मौजूदगी में स्थायी सफाई कर्मियों ने कूड़े का उठाव किया है। वहीं मुजफ्फरपुर में सफाई कर्मी हड़ताल पर नहीं हैं, लेकिन गुरुवार को उन्होंने प्रदर्शन करके नगर निगम में कामकाज ठप करा दिया।

पटना में दैनिक मजदूरों के आंदोलन का नेतृत्व कर रहे समन्वय समिति के नेता चंद्र प्रकाश सिंह, मंगल पासवान, विंदेश्वरी सिंह, जितेन्द्र कुमार और नंद किशोर दास समेत अन्य लोगों ने गुरुवार को विभाग के मंत्री से मुलाकात की। कोई हल नहीं निकला। चंद्र प्रकाश सिंह ने बताया कि अब यूनियन के नेता भी हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।

गया नगर निगम के कुछ वार्डों में सफाई करने गए कुछ कर्मियों को हड़ताल समर्थक सफाई मजदूरों ने खदेड़ दिया। उनकी पिटाई भी कर दी। जिला प्रशासन से नगर आयुक्त ने पुलिस बल मांगा। दोपहर बाद नगर निगम कार्यालय में पुलिस बल की मौजूदगी में कार्यालय खोलवाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here