मायावती: भाजपा हारने के बाद चौकीदारी कर सकती है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'चौकीदार के अलर्ट रहने से चोर बेचैन और असहज हो गए हैं.' बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि भाजपा चुनाव हार रही है और हारने के बाद योगी चौकीदारी कर सकते हैं.

0
401

बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) के बयान पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) ने पलटवार किया है. योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘चौकीदार के अलर्ट रहने से चोर बेचैन और असहज हो गए हैं.’ बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि भाजपा चुनाव हार रही है और हारने के बाद योगी चौकीदारी कर सकते हैं. मायावती ने Tweet कर कहा, ‘भाजपा वाले चाहे जो फैशन करें बस संविधान-कानून के रखवाले बनकर काम करें, जनता बस यही चाहती है.’ उन्होंने Tweet किया, ‘भाजपा के मंत्री और नेतागण पीएम मोदी की देखादेखी ‘चौकीदार’ बन गए हैं पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जैसे लोग बड़ी दुविधा में हैं कि क्या करें? जनसेवक/योगी रहें या अपने को चौकीदार घोषित करें. बीजेपी वाले चाहे जो फैशन करें बस संविधान/कानून के रखवाले बनकर काम करें, जनता बस यही चाहती है.’

मायावती ने Tweet कर मोदी सरकार पर हमला बोला और तंज कसते हुए कहा, ‘राफेल सौदे की गोपनीय फाइल यदि चोरी हो गई तो गम नहीं, लेकिन देश में रोजगार की घटती दर और बढ़ती बेरोजगारी एवं गरीबी, श्रमिकों की दुर्दशा, किसानों की बदहाली आदि के सरकारी आंकड़े पब्लिक नहीं होनी चाहिए. वोट/इमेज की खातिर उन्हें छिपाये रखना है. क्या देश को ऐसा ही चौकीदार चाहिए?’

मायावती के Tweet पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर में कहा, ‘चौकीदार के अलर्ट होने से चोर बेचैन और असहज हो गए हैं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं और पूरा प्रदेश मायावती जी की चिंता और बेचैनी को अच्छी तरह से समझते हैं, क्योंकि उनके कार्यकाल में लूट और भ्रष्टाचार के नए रिकॉर्ड बने थे और अब जब चौकीदार के अलर्ट होने से यह सब बंद हो गया है तो वह असहज महसूस कर रही हैं. चूंकि पूरा देश अलर्ट है, इसलिए जिन्होंने देश के संसाधनों को लूटा था उन्हें अब परेशानी हो रही है.’

उन्होंने कहा, ‘पूरे देश में हर जगह चौकीदार है और चौकीदार पूरी तरह से अलर्ट है और चोर असहज महसूस कर रहे हैं. वास्तव में हर सजग नागरिक चौकीदार है और चूंकि मैं योगी हूं इसलिए मैं धर्म, समाज और संस्कृति का चौकीदार हूं और एक मुख्यमंत्री होने के नाते मैं प्रदेश का चौकीदार हूं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here