2019 को लेकर बीजेपी शासित राज्यों के CM संग बीजेपी अध्यक्ष का दिल्ली में महामंथन शुरू

0
501

साल 2019 में होने वाले आम चुनाव और साल के अंत तक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी पूरी तरह से कमर कस चुकी है। पार्टी विपक्ष के महागठबंधन की तैयारी को देखते हुए अपनी रणनीति में कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखना चाहती है। इसी के तहत बीजेपी की मंगलवार को दिल्ली में एक बड़ी और अहम बैठक शुरू हो गई है। पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में बीजेपी शासित राज्यों के सभी सीएम मौजूद हैं। पार्टी इस बैठक में आगामी चुनावों की तैयारियों पर मंथन करेगी।

दिल्ली के 6, दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित बीजेपी मुख्यालय में होने वाली इस बैठक में देश के 15 बीजेपी शासित राज्यों के सीएम और डेप्युटी सीएम शिरकत कर रहे हैं। इस बैठक की अध्यक्षता पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कर रहे हैं। इस बैठक में पीएम मोदी और अमित शाह मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों के साथ 2019 के चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे। इसके साथ ही देश के अलग-अलग राज्यों में 2019 चुनाव प्रचार अभियान को लेकर भी रूपरेखा का निर्धारण किया जाएगा।

बैठक की शुरुआत पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के साथ शुरू हुई। माना जा रहा है कि पार्टी दिवंगत पूर्व पीएम की लोकप्रियता का आगामी महीनों में भरपूर उपयोग करने के मूड में है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक बीजेपी मुख्यालय में होने वाली इस बैठक की शुरुआत पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने किया। बैठक में दिन भर अलग-अलग सत्र में तमाम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इनमें 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों में प्रचार अभियान की रणनीति, एनडीए गठबंधन, संगठन स्तर पर कामकाज समेत केंद्रीय योजनाओं को राज्यवार और प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराने की रणनीति पर मंथन किया जाएगा। इसके बाद शाम को बैठक के समापन के दौरान पीएम मोदी सभी मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों को अलग-अलग विषयों पर दिशा-निर्देश देंगे।

इस बेहद अहम मानी जा रही बैठक में बिहार और उत्तर प्रदेश के डेप्युटी सीएम भी पहुंचे हैं। सीएम तीन महीने पहले आयोजित बैठक के बाद की प्रगति के बारे में मोदी और शाह को जानकारी देंगे। पीएम मोदी ने बीजेपी शासित मुख्यमंत्रियों को केंद्र की उपलब्धियों को जनता को बताने को कहा था। मोदी ने केंद्र की सात सामाजिक कल्याणकारी योजनाओं के बारे में आम लोगों को जागरूक करने को भी कहा था। पार्टी दलित, ओबीसी और ग्रामीण वोटरों को लुभाने की कोशिश में लगी है।

बैठक में साल के अंत में तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने विधानसभा चुनावों पर खास फोकस रहेगा। इन राज्यों पर पार्टी की स्थिति पर एक अलग से प्रजेंटेशन दिया जाएगा।

बीजेपी इसके अलावा जमीनी स्तर पर कांग्रेस की स्थिति और पिछले कुछ सप्ताह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दिए गए बयान पर भी चर्चा करेगी। राहुल द्वारा 2019 चुनाव के लिए समिति और अन्य टीमों के गठन पर भी बीजेपी की बैठक में चर्चा हो सकती है।

आज के इस बैठक में 2019 में सहयोगियों पर भी पार्टी चर्चा करेगी। पार्टी का मानना है कि उसे और सहयोगियों की जरूरत है। विपक्ष की राज्यवार गठबंधन की रणनीति के कारण बीजेपी को कड़ी चुनौती मिल सकती है। महाराष्ट्र में एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन, यूपी में एसपी, बीएसपी तथा कांग्रेस का गठजोड़, बिहार में आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन के कारण 2019 का चुनाव एनडीए गठबंधन के लिए काफी चुनौती भरा होगा।
इसके अलावा पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों के साथ ‘एक देश-एक चुनाव’ और महागठबंधन के राज्यवार असर जैसे मुद्दों पर भी बातचीत कर उनका फीडबैक ले सकते हैं। बीजेपी करीब 6 महीने पहले से ही संगठन स्तर पर अपनी तैयारियों में जुटी हुई है। इस क्रम में पिछले कुछ दिनों में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अलग-अलग राज्यों में पार्टी नेताओं के साथ कई बड़ी बैठकें भी कर चुके हैं।

निरंजन कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here