सितंबर की सैलरी न मिलने पर आज हड़ताल पर रहेंगे BSNL के कर्मचारी।

सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL खराब वित्तीय हालत से जूझ रही है। सितंबर महीने का वेतन नहीं दिए जाने के विरोध में BSNL के कर्मचारी आज हड़ताल पर रहेंगे।

0
1782

सितंबर महीने का वेतन (Salary) नहीं दिए जाने के विरोध में BSNL के कर्मचारी आज हड़ताल पर रहेंगे। BSNL के कर्मचारियों ने ऑल यूनियंस एंड एसोसिएशंस ऑफ बीएसएनएल (एयूएबी) के बैनर तले इस हड़ताल का आह्वान किया है। BSNL की 10 यूनियन शुक्रवार को एक दिन की भूख हड़ताल रखने जा रही हैं।

सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL खराब वित्तीय हालत से जूझ रही है। कल ही सरकार की ओर से दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shanker Prasad) ने कहा कि मोदी सरकार इस कंपनी को चलाने में आ रही दिक्क्तों तो दूर करने की कोशिशों में जुटी हुई है।

BSNL के करीब 1 लाख 58 हजार कर्मचारियों को अभी भी सितंबर महीने का वेतन नहीं मिला है। इसके साथ ही MTNL के करीब 22 हजार कर्मचारियों को सितंबर महीने के साथ ही अगस्त की भी सैलरी नहीं मिली है। हालांकि इस घोषणा के बाद MTNL के कर्मचारियों ने अपना धरना प्रदर्शन भी स्थगित कर दिया है।

इससे पहले सरकार की ओर से दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shanker Prasad) में कहा कि जब भी देश के किसी हिस्से में कोई प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, तूफान आता है तो BSNL ही वो कंपनी होती है जो मुफ्त में अपनी सेवाएं देती है। कंपनी की कमाई का 75 फीसदी हिस्सा कर्मचारियों का वेतन देने में काम आता है। वहीं अन्य कंपनियां इस मद में केवल पांच से 10 फीसदी खर्च करती हैं।

BSNL ने अभी अपने कर्मचारियों को सितंबर महीने की सैलरी भी नहीं दी है। हालांकि कंपनी ने कहा है कि वो दीवाली से पहले वेतन का भुगतान कर देगी। वित्त मंत्रालय BSNL और MTNL को चलाने में पक्ष में नहीं है औप इनको बंद करने की सिफारिश की है। दूसरी ओर गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बने मंत्रियों के समूह (GOM) ने दोनों कंपनियों के रिवाइवल प्लान को मंजूरी दे दी है। वित्त मंत्रालय ने 80 बिंदुओं पर अपनी असहमति जताई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here