मध्य प्रदेश में Congress ने दिया BSP को एक और झटका।

Madhya Pradesh के गुना-शिवपुरी से ज्योतिरादित्य सिंधिया के ख़िलाफ़ खड़े BSP उम्मीदवार लोकेंद्र सिंह राजपूत कांग्रेस में शामिल हो गए हैं.

0
133

Madhya Pradesh के गुना-शिवपुरी से ज्योतिरादित्य सिंधिया के ख़िलाफ़ खड़े BSP उम्मीदवार लोकेंद्र सिंह राजपूत कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. शनिवार को गुना में मायावती रैली करने वाली हैं. BSP के लिए ये एक बड़ा झटका है और ज़ाहिर है सिंधिया को इस से फ़ायदा होगा.

लोकेंद्र सिंह राजपूत ने सिंधिया की मौजूदगी में कांग्रेस (Congress) की सदस्यता ली. ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) इस सीट से 4 बार चुनाव जीत चुके हैं. उनका मुकाबला BJP के केपी यादव से हैं, केपी यादव भी पहले सिंधिया के क़रीबी हुआ करते थे. BSP नेता को कांग्रेस में शामिल करने के फैसले पर BSP सुप्रीमो मायावती और Congress के बीच खटास और बढ़ सकती है क्योंकि एक तो मायावती मध्य प्रदेश में गठबंधन को लेकर कांग्रेस के रवैये से खासे नाराज हैं. दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में दलितों के बीचप्रियंका गांधीके पैठ बनाने की कोशिशों के चलते उन्होंने महागठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं होने दिया. रैलियों में भी मायावती बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस पर जमकर प्रहार कर रही हैं.

हालांकि यह पहला मौका नहीं है कि कांग्रेस ने मायावती को झटका दिया है. उत्तर प्रदेश में बीएसपी के कद्दावर नेता रहे नसीमुद्दीन सिद्दिकी को कांग्रेस ने बिजनौर लोकसभा सीट से उतार दिया. इतना ही नहीं यूपी में दलित नेता के तौर पर उभरने की कोशिश कर रहे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर से प्रियंका गांधी ने मुलाकात की. यह बात भी मायावती को नागवार गुजरी.

प्रियंका गांधी जब कांग्रेस की महासचिव बनाई गईं तो उनकी टीम ने उत्तर प्रदेश में उनकी सीटों पर फोकस करना शुरू कर दिया जिनमें दलित की संख्या अच्छी-खासी है. दलित वोटर कभी कांग्रेस का कोर वोटर हुआ करते थे. कांग्रेस का मानना है कि इस लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में जितनी ही सीटें मिल जाएं वहीं बहुत हैं. पार्टी दलित और सवर्णों को अपने पाले में कर राज्य के विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रही है. इसमें प्रियंका चेहरा बन जाएं तो कोई बड़ी बात नहीं होगी. कुल मिलाकर ऐसा लग रहा है कि आने वाले दौर में कांग्रेस और बीएसपी के बीच दलित वोटरों को लेकर राजनीति और तेज सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here