CAA Protest को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा जारी, गृह मंत्री ने बुलाई बैठक, केजरीवाल भी होंगे शामिल

राजधानी दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले के करावल नगर, मौजपुर और ब्रहमपुरी में मंगलवार को भी नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर हिंसा जारी है।

0
1157

Delhi: राजधानी दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले के करावल नगर, मौजपुर और ब्रहमपुरी में मंगलवार को भी नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर हिंसा जारी है। मौजपुर (Maujpur) और ब्रहमपुरी (Braham Puri) में मंगलवार सुबह पत्थरबाजी की घटना सामने आई। वहीं करावल नगर (Karawal Nagar) में कुछ लोगों ने टायर मार्केट में आग लगा दी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों और अधिकारियों की बैठक बुलाई है। दमकल विभाग ने बताया है कि मंगलवार सुबह तीन बजे तक उन्हें आग लगने की 45 कॉल मिली है जिसमें तीन दमकलकर्मी घायल हो गए है। हिंसा के चलते उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सभी स्कूलों को बंद रखा गया है। दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने भी ऐतिहातन जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद रखने का फैसला किया है।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर दो पक्षों के बीच टकराव ने दिल्ली को एक बार फिर अशांत कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने दिल्ली की कानून व्यवस्था के मद्देनजर एक बैठक बुलाई है। इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) भी शामिल होंगे।

शाहदरा डीसीपी अमित शर्मा जो सोमवार को गोकुलपुरी में दो गुटों के बीच झड़प के दौरान घायल हो गए थे, अब होश में हैं। सोमवार को उनकी एक सर्जरी हुई थी और मंगलवार सुबह उनका सीटी स्कैन किया गया है। वह अब खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

दिल्ली में मंगलवार सुबह 8.24 बजे करावल नगर के एक टायर मार्केट में आग लगने की घटना सामने आई है, लेकिन अभी तक पुलिस विभाग की सुरक्षा नहीं मिलने के कारण आग बुझाने का काम अभी तक शुरू नहीं हो सका है। अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है। वहीं करावल नगर में रविवार को वाहनों में आग लगा दी गई।

उत्तर पूर्वी जिले में हिंसा के चलते पिंक लाइन (Pink Line) के चार स्टेशन गोकुलपुर जाफराबाद मौजपुर और जोहरी एनक्लेव मेट्रो की सेवाएं बंद है पिंक लाइन पर मेट्रो का परिचालन मजलिस पार्क से वेलकम मेट्रो स्टेशन तक ही हो रहा है उसके आगे पड़ने वाले सभी स्टेशन पर सेवाएं कल से ही ठप है, जो आज भी शुरू नहीं किया जा सका है दिल्ली मेट्रो के मुताबिक सुरक्षा कारणों और दिल्ली पुलिस के निर्देश के बाद उन स्टेशनों पर परिचालन बंद किया गया है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूल मंगलवार को बंद कर दिए गए हैं। स्कूलों में होने वाली गृह परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई हैं। दिल्ली के शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने बोर्ड परीक्षा रद्द करने का आग्रह किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंसा त्याग शांति कायम करने की अपील की है। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी ने लोगों से संयम और समझदारी दिखाने का अनुरोध किया।

उत्तर पूर्व के हिंसा प्रभावित इलाकों में बीती रात भी हालात पूरी तरह नहीं शांत हुए थे। रात भर छिटपुट हिंसा का दौर चलता रहा है। इस दौरान दम कल को फायर की सौ से अधिक काल मिली थी। कल की हिंसा में तीन दमकलकर्मी भी घायल हुए थे। जानकारी के अनुसार गोकलपुरी, घोंडा, भजनपुरा और यमुना विहार के विभिन्न इलाकों में रात भर छिटपुट हिंसा होती रही है। भीड़ ने दुकानों में लूटपाट की और वाहनों में आग लगा दी। हालांकि पुलिस बल के पहुंचने पर भीड़ मौके से गायब हो जाती थी इसलिए कहीं पुलिस से आमना ,सामना नहीं हुआ। सुबह करीब आठ बजे मौजपुर चौक पर भीड़ ने दो बाइक में आग लगा दी और एक युवक को बुरी तरह पीटा भी। फिलहाल इलाके में पुलिस बल तैनात है।

रात भर लोगों ने घरों के बाहर बैठकर रखवाली की है। आग जलाकर लोग बैठे रहे। अभी सुबह उठते ही सब लोग इस डर के मारे कि आगे कर्फ्यू लगेगा हालात बिगड़ेंगे लोग आटा नमक परचून का सामान सब इकट्ठा कर स्टोर कर रहे हैं।

मूंगा नगर पांच नंबर गली में छह के एक दुकान वाले ने बताया कि वह 25 किलो दूध उसका रोज निकलता था आज दूध वाला नहीं आया तो वह खुद सुबह जल्दी जाकर 50 किलो दूध लेकर आया है और 20 मिनट में सारा दूध उसका बिक गया इसी तरीके से लोग डरे हुए हैं सामान इकट्ठा कर रहे हैं यह सोच कर की घर आगे घर से निकल नहीं पाएंगे परेशानी होगी।

करावल नगर रोड पर भजनपुरा से शेरपुर चौक के बीच रात में 1 बजे तक काफी रुक रुक कर दो गुटों में नारेबाजी होती रही। लोगों का आरोप है पुलिस कम थी लेट आई फ़ोर्स लेट लगाई गई।

इस समय करावल नगर रोड पर जो सामान जला हुआ है दुकानों का सामान है सारा सड़कों पर पड़ा है। पूरी रोड जगह-जगह बंद है। 8 से 10 सिपाही जगह-जगह तैनात हैं। लेकिन उनकी संख्या कम है।

ज्यादातर लोग अपने घरों के आसपास गलियों में बात कर रहे हैं। लोगों में कुछ लोग पत्थर इकट्ठे करके छत पर रख रहे हैं कि कोई परेशानी हुई कोई आया तो हम अपनी रक्षा कर सकेंगे।चांद बाग करावल नगर रोड सभी कॉलोनियों में केवल कुछ जगह गेट लगे है। चारों तरफ से बंद नहीं है लोग कहीं से भी घुस जाते हैं तो लोग इस वजह से भी रात को पहरेदारी कर रहे थे।

चांद बाग, मुस्तफाबाद, चंदु नगर, मूंगा नगर करावल नगर रोड की जिस कॉलोनी में मुस्लिम ज्यादा है वहाँ रहने वाले हिन्दू रात में अपने आसपास रहने वाले अपने रिश्तेदार और परिचित के घर चले गए। इसी तरह जहाँ हिन्दू ज्यादा है वहाँ रहने वाले मुस्लिम चले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here