पंजाब कांग्रेस में मतभेद- कप्तान अमरिंदर ने माँगा एक्शन तो सिद्धू बोले शान्ति

हमले के बाद कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि अब पाकिस्‍तान से बात नहीं उसके खिलाफ एक्‍शन होना चाहिए। दूसरी ओर, सिद्धू ने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत व शांति की जरूरत है।

0
536

पुलवामा (Pulwama) में अात्‍मघाती आतंकी हमले के बाद पंजाब और कांग्रेस की राजनीति एक बार फिर गर्मा गई है। पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (Capt Amrinder Singh) और उनके कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के मतभेद फिर उजागर हुए हैं। पाकिस्‍तान को लेकर दोनों का अलग-अलग रुख सामने आया है। इस हमले  के बाद कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि अब पाकिस्‍तान से बात नहीं उसके खिलाफ एक्‍शन होना चाहिए। दूसरी ओर, सिद्धू ने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत व शांति की जरूरत है। कुछ लाेगोें की हरकत के लिए किसी राष्‍ट्र को दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

यह पहली बार नहीं है जब सिद्धू के बोल पाकिस्‍तान को लेकर अपने सीएम के उलट हुए हैं। इससे पहले नवजोत सिंह के पाकिस्‍तान जाने और वहां पाकिस्‍तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से गले मिलने की कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने खुली आलाेचना की थी। कैप्‍टन ने साफ कहा था कि पाकिस्‍तान सीमा पर और देश में हमारे लोगों की हत्‍याएं कर रहा है। ऐसे में वहां के आर्मी चीफ को गले लगाना शहीद सैनिकों का अपमान है।

इसके बाद भी सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के पाकिस्‍तान में शिलान्‍यास के मौकेे पर दो-तीन दिन पहले वहां चले गए थे। इस पर भी बात सामने आई थी कि वह अपने मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के मना करने के बावजूद वहां गए थे। इस पर काफी विवाद हुआ था और पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव के दौरान तेलंगाना में सिद्धू ने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के बारे में सवाल पूछे जाने पर विवादित बयान दे डाला था। उन्‍होंने कहा था, कौन कैप्‍टन, अच्‍छा कैप्टन अमरिंदर सिंह। अरे वह तो सेना के कैप्‍टन हैं। मेरे कैप्‍टन तो राहुल गांधी हैं। मेरे और अमरिंदर सिंह दोनों के कैप्‍टन राहुल गांधी हैं। इसके बाद सिद्धू निशाने पर आ गए और मामला गर्माने के बाद सिद्धू ने अम‍रिंदर सिंह से माफी मांगी।

इसके बाद अब शुक्रवार को एक बार फिर सिद्धू के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से अलग सुर सुनाई दिए। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने पााकिस्‍तान पर कड़ा स्‍टैंड लिया और उस पर सीधे निशाना साधा। कैप्‍टन ने पंजाब विधानसभा में साफ कहा कि पाकिस्‍तान से अब कोई बातचीत की जरूरत नहीं है अौर उसके खिलाफ कड़ा एक्‍शन लिया जाना चाहिए। दूसरी ओर, नवजोत सिंह सिद्धू ने पु‍लवामा हमले की निंदा तो की ले‍किन पाकिस्‍तान का नाम तक नहीं लिया। उल्‍टा वह पाकिस्‍तान का बचाव करते और शांति की बात करते दिखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here