चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने पर नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ FIR दर्ज

नवजोत सिंह सिद्धू के एक चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान विवादित भाषण देकर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ प्राथमिकी.

0
194

पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के एक चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान विवादित भाषण देकर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ कटिहार के बारसोई थाना में मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज की गई. अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि उक्त मामले में फ्लाइंग स्क्वाड टीम द्वारा बारसोई थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गई है. उन्होंने बताया कि इस मामले में आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्वाचन आयोग (Election Commission) को रिपोर्ट भेज दिया गया है.

विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी तारिक अनवर के पक्ष में मुस्लिम बहुल कटिहार में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए मुसलमानों से कहा ‘ये बांट रहे हैं आपको.’ कटिहार के पडोसी किशनगंज लोकसभा सीट जहां से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम ने अपना उम्मीदवार उतरा है की ओर इशारा करते हुए सिद्धू ने कहा ‘मुस्लिम भाईयों ये यहां पर ओवैसी साहेब जैसे लोगों को लाकर आपलोगों के वोट बांटकर ये जीतना चाहते हैं.’

सिद्धू ने मुसलमानों से कहा ‘यहां अल्पसंख्यक बहुसंख्यक में है. अगर तुम लोग एकजुट होकर वोट डाला तो सब पलट जाएगा. मोदी सलट जाएगा. छक्का लग जाएगा.’ इस मामले में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आपत्ति जताए जाने के साथ मंगलवार शाम भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने पटना स्थित मुख्य निर्वाचान पदाधिकारी पहुंचकर सिद्धू द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई किए जाने के लिए लिखित शिकायत की थी.

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार ने कहा था, ‘हम नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा की गई टिप्पणी की कड़ी निंदा करते हैं. उनकी टिप्पणियां कांग्रेस की अल्पसंख्यक तुष्टिकरण की नीति और पार्टी की एक आसन्न हार की चिंता का परिणाम हैं.’ साथ ही देवेश ने कहा था, ‘एक तरफ, मोदी के नेतृत्व में हमारी पार्टी सबका साथ, सबका विकास के आदर्श के साथ काम कर रही है और दूसरी तरफ कांग्रेस के पास विभाजनकारी राजनीति के अलावा कुछ भी नहीं है. हम कांग्रेस नेता द्वारा इस निंदनीय कृत्य की निंदा करते हैं. हम चुनाव आयोग से भी आग्रह करेंगे कि वह उनके बयानों के खिलाफ संज्ञान लें और उचित कार्रवाई करे.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here