ड्रग्स समस्या से निपटने के लिए मिले 5 राज्यों के मुख्यमंत्री।

DRUGS की समस्या से जूझ रहे 5 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने आज चंडीगढ़ (Chandigarh) में आयोजित एक कॉन्फ्रेंस में भाग लिया और इसके उन्मूलन को लेकर चर्चा की.

0
288

Chandigarh: ड्रग्स की समस्या (Drug Menace) से जूझ रहे 5 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने आज चंडीगढ़ (Chandigarh) में आयोजित एक कॉन्फ्रेंस में भाग लिया और इसके उन्मूलन को लेकर चर्चा की. इस दौरान पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, राजस्‍थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, हिमाचल के सीएम जय राम ठाकुर और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ‌त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस समस्या पर बातचीत की और लोगों को इससे बचाने की दिशा में ‌किए जाने वाले सरकारी प्रयासों की जानकारी दी.

सीमा पार से आ रहा है नशा
गौरतलब है कि पंजाब और राजस्थान में सीमा पार से अवैध ड्रग्स की तस्करी ने लोगों को इसका गुलाम बना दिया है. राजस्‍थान में स्मैक और अफीम की लत के चलते हर साल कई लोगों की मौत हो रही है. वहीं पंजाब में स्मैक, हेराइन व अन्य प्रकार के नशों ने युवाओं को अपने कब्जे में ले रखा है. पंजाब में फैलती नशे की लत के चलते पिछले कई सालों से बड़ी संख्या में NGO और सरकार के संस्‍थान भी काम कर रहे हैं.

Drugs की लत के चलते हिमाचल और उत्तराखंड के भी हाल बेहाल हैं. यहां पर भी हजारों की संख्या में युवा इसका शिकार हैं और रीहैबिलिटेशन सेंटर (Rehabilitation center) में भर्ती हैं. इस समस्या से जूझ रहे ये सभी राज्य अब एक ठोस नतीजा निकालने के लिए कमर कसे हुए हैं. इसी के चलते चंडीगढ़ में आयोजित की गई इस कॉन्फेंस में ड्रग उन्मूलन पर चर्चा की गई और इससे निपटने के लिए अपने अपने सुझाव रखे गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here