चीन ने ‘मिसाइल मैन’ को बनाया रक्षा मंत्री, जल्द ही निर्मला सीतारमण कर सकती है मुलाकात

0
461
wei fenghe

चीन ने पूर्व मिसाइल यूनिट कमांडर को अपना नया रक्षा मंत्री घोषित कर दिया है। चीन ने 63 वर्षीय लेफ्टिनेंट जनरल वेई फेंग को इस पद के लिए चुना है। फेंग को राष्ट्रपति शी जिनपिंग का करीबी माना जाता है। वेई फेंग मिसाइल यूनिट ‘सेकेंड आर्टिलरी कॉर्प्स’ के दो हिस्सों में बंटने से पहले इसके कमांडर रह चुके हैं। चीन की संसद ने उन्हें इस अहम पद के लिए चुना है।

चीन ने सोमवार को पूर्व मिसाइल यूनिट कमांडर को नया रक्षा मंत्री नियुक्त किया है। खास बात यह है कि उनकी अगली मेहमान और कोई नहीं बल्कि भारतीय समकक्ष निर्मला सीतारमण हो सकती हैं। 63 वर्षीय लेफ्टिनेंट जनरल वेई फेंग चीन की मिसाइल यूनिट के दो हिस्सों में बंटने से पहले आखिरी कमांडर थे। अब यह यूनिट PLA रॉकेट फोर्स और स्ट्रैटजिक सपॉर्ट फोर्स में बंट गई है।

वेई फेंग को चीन की संसद यानी नैशनल पीपल्स कांग्रेस (NPC) ने रक्षा मंत्री पद के लिए चुना है। भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में घोषणा की थी कि वह अगले महीने चीन का दौरा करने वाली हैं, जो कि बीते साल 73 दिनों तक चले डोकलाम विवाद के बाद किसी चीन में किसी भी भारतीय शीर्ष नेता का पहला दौरा होगा। यह घोषणा ऐसे समय में की गई है जब दोनों देशों की ओर से उच्च स्तरीय बैठकों सहित कूटनीतिक प्रयासों के जरिए संबंधों को सकारात्मकस्तर पर लाने की कोशिश की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शंघाई सहयोग संगठन( एससीओ) शिखर सम्मेलन में शिरकत करने की भी संभावना है, जो चीन के चिंगदाओ शहर में जून में होगा।

दोकलम गतिरोध के बाद दोनों देशों बीच संबंधों में तनाव आए थे। जिसे देखते हुए इस यात्रा को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। रक्षा मंत्री ने चीन दौरे पर एक सवाल के जवाब में कहा कि हां, संभव है कि यह यात्रा अप्रैल के अंत में हो। हालांकि उन्होंने संबंधित बैठक के एजेंडे के बारे में नहीं बताया।

बता दें कि पिछले साल अगस्त में भारत और चीन ने दोकलम में 73 दिनों से चले आ रहे सैन्य गतिरोध को खत्म करने का फैसला किया था। इस गतिरोध के कारण दोनों देशों के आपसी रिश्ते तनावपूर्ण हो गए थे।

गौर करने वाली बात यह है कि दोकलम से अपने-अपने सैनिकों को हटाए जाने के बावजूद दोनों देशों के बीच रिश्तों में जमी बर्फ अभी तक नहीं पिघल सकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here