अभी खतरे के बादल टले नहीं, कांग्रेस को लड़ने हैं 3 विधानसभा चुनाव 2019 में।

कांग्रेस पार्टी पर अब आने वाले तीन राज्यों में- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन को लेकर संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

0
1556

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में कांग्रेस (Congress) अपनी करारी हाल को अभी भूली भी नहीं थी कि उसके सामने और बड़े संकट खड़े हो गए हैं. कांग्रेस पार्टी पर अब आने वाले तीन राज्यों में- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन को लेकर संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

लोकसभा चुनाव परिणाम (Lok Sabha Election Result 2019) के बाद कांग्रेस (Congress) के खराब प्रदर्शन के कारणों पर मंत्रणा करने के लिए कांग्रेस कार्यकारिणी समिति (CWC)) की बैठक हुई। इस बैठक में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन कांग्रेस कार्यकारिणी समिति के सदस्यों ने उनके इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया.

सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को लेकर भी चर्चा हुई. कांग्रेस पार्टी को इस लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद थी. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार कर वोटरों को लुभाने की कोशिश भी की थी, लेकिन लोकसभा चुनाव में कांग्रेस (Congress) को 543 में से सिर्फ 52 सीटें ही मिलीं. इसी प्रदर्शन के बाद कांग्रेस पार्टी के सिर पर अभी ये संकट मंडरा रहे हैं।

हरियाणा विधानसभा चुनाव

हरियाणा लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने साल 2014 से भी ज्यादा प्रचंड जीत दर्ज की है. साल 2014 में बीजेपी ने जहां 7 सीटों पर कब्जा जमाया था तो वहीं इस बार के चुनाव में पार्टी ने 10 की 10 लोकसभा सीटों पर धमाकेदार जीत दर्ज की है. राज्य में पूरी तरह से मोदी लहर दिखी.

जानकार यही मान रहे थे कि कांग्रेस इस बार हरियाणा में अच्छा प्रदर्शन करेगी और लगभग 4 सीटों पर जीत दर्ज करेगी. लेकिन लोकसभा चुनाव के नतीजों ने कांग्रेस को उसकी रणनीति पर सोचने पर मजबूर कर दिया है. राज्य में इसी साल विधानसभा चुनाव होना है और राज्य में मोदी लहर को देखते हुए कहीं से नहीं लग रहा है कि कांग्रेस वापस इस बार सत्ता हासिल कर पाएगी.

2014 में हुए हरियाणा विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 47 सीटों पर जीत दर्ज किया था और अपने दम पर सत्ता की कुर्सी पर बैठी थी. इस बार भी बीजेपी के लिए मौके अधिक हैं, क्योंकि विपक्षी एकता में जहां कमी है तो कांग्रेस अंदरुनी कलह से ग्रस्त है.

झारखंड विधानसभा चुनाव

झारखंड लोकसभा चुनाव में भी जमकर मोदी लहर चलती दिखी. यहां की 14 लोकसभा सीटों पर पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने 11 सीटों पर कब्जा जमा लिया और कांग्रेस सहित किसी भी पार्टी के लिए कोई मौका नहीं छोड़ा. राज्य में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

बीजेपी के प्रदर्शन को देखते हुए कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन पर सवालिया निशान लगने शुरू हो गए हैं. 2014 में हुए झारखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 37 सीटें अपने नाम की थी और उसके सहयोगी दल आजसू को पांच सीटों पर जीत मिली थी. लोकसभा चुनाव 2019 के प्रदर्शन को देखते हुए यही लग रहा है कि कांग्रेस की राह आसान नहीं होने जा रही है. पार्टी को कोई चमत्कार ही जीत दिला सकता है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव

महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों पर बीजेपी और शिवसेना गठबंधन ने 41 सीटों पर धमाकेदार जीत दर्ज की और विरोधियों को पूरी तरह से पस्त कर दिया. कांग्रेस को यहां महज 5 सीटों पर ही जीत हासिल हुई. महाराष्ट्र के परिणामों को देखकर कहा जा सकता है कि आगामी विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी और शिवसेना गठबंधन ही बाजी मारेगी.

कांग्रेस को जीत के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. पिछले विधानसभा चुनाव में 288 सीटों में से बीजेपी 122 सीटें और उसकी सहयोगी शिवसेना ने 63 सीटें जीती थीं. कांग्रेस को सिर्फ 42 सीटें ही मिली थीं. अब देखना होगा कि कांग्रेस राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में कैसा प्रदर्शन कर पाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here