Coronavirus: चंडीगढ़ में कोरोना वायरस के चलते सुखना लेक पर बोटिंग और प्ले एरिया बंद

चंडीगढ़ में कोरोना की एक संदिग्ध मरीज में बुधवार की रात कोरोना की पुष्टि हुई है। चंडीगढ़ निवासी महिला रविवार सुबह इंग्लैंड (England) से लौटी थी।

0
435

Chandigarh- चंडीगढ़ के Sec-32 स्थित GMCH में भर्ती कोरोना (Coronavirus) की एक संदिग्ध मरीज में बुधवार की रात कोरोना की पुष्टि हुई है। चंडीगढ़ में कोरोना वायरस से संक्रमित होने का यह पहला मामला है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार PGI के वायरोलॉजी डिपार्टमेंट में हुई जांच में पेशेंट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। चंडीगढ़ निवासी महिला रविवार सुबह इंग्लैंड (England) से लौटी थी। सर्दी जुकाम की शिकायत पर उसे GMCH में सोमवार को भर्ती कराया गया था। अब उसकी हालत सामान्य है।

GMCH 16 में भर्ती दो संदिग्धों की रिपोर्ट बुधवार शाम निगेटिव आने से स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली। डॉक्टरों के अनुसार दोनों को मंगलवार देर रात अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोनों के सैंपल जांच के लिए PGI स्थित लैब में ही भेजा गया गया था। एक संदिग्ध बुजुर्ग महिला दिल्ली से यात्रा करके चंडीगढ़ (Chandigarh) पहुंची थी। वहीं, दूसरी संदिग्ध महिला शारजहां से लौटी थी। दोनों को सर्दी जुकाम हो रहा था। इसके बाद दोनों को ही GMCH 16 में भर्ती कराया गया था। देर शाम रिपोर्ट आने के बाद दोनों संदिग्ध को घर भेज दिया गया।

खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीमों का गठन होटल और रेस्तरां का निरीक्षण करने और COVID-19 से संबंधित दिशा-निर्देश जारी करने के लिए किया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने उपभोक्ताओं और कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए किए जाने वाले उपायों से संबंधित सभी होटल व्यवसायियों, रेस्तरां और खाद्य वेंडिंग प्रतिष्ठानों को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दिए गए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्हें रिसेप्शन काउंटर पर एक स्टैंड रखने की सलाह दी गई थी जिसमें एहतियाती उपाय किए जाने की आवश्यकता थी। इन्हें बड़े पैमाने पर आम जनता को जागरूक करने के लिए रखा गया है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए सावधानियां बरतते हुए जिला अदालत में बुधवार को क्लाइंट्स की एंट्री बंद रही। इसके लिए जिला अदालत के गेट पर पांच से छह पुलिसकर्मी तैनात रहे। साथ ही कुछ एडवोकेट भी लोगों को जागरूक करने के लिए गेट पर मौजूद रहे। गेट से ही क्लाइंट्स को वापस भेज दिया गया। जमानत के जरूरी मामलों पर ही सुनवाई हुई। इसके अलावा अदालत में हाईकोर्ट के निर्देशानुसार कम भीड़ रही। सारे मामले अगली तारीख के लिए स्थगित कर दिए गए हैं।

कोरोना से बचाव को ध्यान में रखते हुए पीजीआई ओपीडी में रजिस्ट्रेशन का समय अब सुबह 8 से 11 बजे की बजाय 8 से 10 बजे तक कर दिया गया है। यह व्यवस्था गुरुवार से लागू होगी। PGI प्रशासन का कहना है कि OPD में प्रतिदिन 10 से 12 हजार मरीज एकत्र होते हैं। ऐसे में इतनी ज्यादा भीड़ को कम करने के लिए ये किया गया है जिससे इमरजेंसी वाले मरीज ही अस्पताल में आएं। उनके साथ 3 से 4 की संख्या में आने वाले परिजनों की भी संख्या कम करने के लिए मरीज के साथ सिर्फ एक परिजन के आने का निर्देश दिया जा रहा है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए चंडीगढ़ प्रशासन ने सुखना लेक (Sukhna lake) में बोटिंग को बंद कर दिया है। लेक पर बच्चों के खेलने के लिए बनाए प्ले एरिया को भी 31 मार्च तक बंद रखने के आदेश जारी किए गए हैं। इसके अलावा हॉप ऑफ-हॉप ऑन बसों को भी कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है।

प्रशासन ने साफ किया है कि शहरवासी सुखना पर सैर करने के लिए जा सकते हैं। इस पर किसी तरह की कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है। हालांकि सुखना लेक पर स्कैच बनाने वाले ऑर्टिस्टों पर भी कुछ दिनों के लिए रोक लगा दी है। इसके अलावा प्रशासन ने शहर के सभी म्यूजियम को भी बंद कर दिया है। कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए बुधवार को रॉक गार्डन को भी बंद कर दिया है।

इसके अलावा अभी तक सभी शॉपिंग मॉल्स, सिनेमाघर, कोचिंग सेंटर, जिम, स्वीमिंग पूल, डिस्कोथेक, पब, बार, वीडियो गेमिंग सेंटर और स्पा सेंटर को 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं और शहर के सार्वजनिक समारोह, जनसमूह आदि में 100 लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगाई गई है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) का असर शहर की सड़कों पर भी दिखना शुरू हो गया है। स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी समेत पार्लर आदि के बंद होने से सड़कों पर गाड़ियों की संख्या कम हुई है। CTU के आंकड़े भी बताते हैं कि शहरवासी अब घरों में रहना पसंद कर रहे हैं। CTU के अनुसार लोकल रूट पर सवारियों की संख्या में 20 से 30 फीसदी की कमी आई है।

अधिकारी इस कमी का असर कोरोना वायरस (Coronavirus) को मान रहे हैं। एक अधिकारी का कहना है कि लोगों ने सार्वजनिक परिवहन में सफर करना कम कर दिया है। उन्होंने बताया कि CTU की बसों में रोजाना छिड़काव किया जा रहा है। बसों के चलने से पहले रोजाना सैनेटाइज का काम भी चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here