चीन के वुहान में फंसे 76 भारतीयों और 36 अन्य नागरिकों को IAF के विमान से भारत लाया गया

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर से भारत सरकार ने अपने 76 नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया है।

0
649

China: चीन में कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर अब भी जारी है। कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान (Wuhan) शहर से भारत सरकार ने अपने 76 नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया है। भारतीय वायुसेना का विमान आज सुबह चीन के वुहान में फंसे 76 भारतीयों और 7 देशों के 36 नागरिकों को लेकर नई दिल्ली पहुंचा। इस बात की जानकारी खुद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर दी है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने Tweet कर बताया कि गुरुवार सुबह भारतीय वायुसेना का विमान 76 भारतीयों और पड़ोसी देशों के करीब 36 नागरिकों को लेकर लौटा। भारत ने अपने नागरिकों के अलावा, बांग्लादेश, म्यांमार, मालदीव, चीन, साउथ अफ्रीका, अमेरिका और मेडागास्कर के करीब 36 नागरिकों को वुहान शहर से निकाला है। इससे पहले चीन में कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों के लिए भारतीय वायुसेना का सी-17 सैन्य विमान लगभग 15 टन चिकित्सा सामग्री लेकर वुहान पहुंचा था।

पिछले सप्ताह भारत ने आरोप लगाया था कि चीन विमान को भेजने की अनुमति देने से जानबूझकर मना कर रहा है जबकि दूसरे देशों को वुहान से अपने नागरिकों को ले जाने के लिए उड़ानें संचालित करने दे रहा है। चीन ने भारत के आरोपों को खारिज किया था।

विदेश मंत्रालय ने कहा था कि चिकित्सा आपूर्ति से कोरोना वायरस के प्रसार पर नियंत्रण के प्रयासों में चीन को मदद मिलेगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के प्रसार को लोक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है। मंत्रालय ने कहा कि विमान में 15 टन चिकित्सा सामग्री हैं, जिसमें मास्क, ग्लब्स और चिकित्सा से जुड़े अन्य सामान हैं।

बता दें कि चीन में कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या 27715 हजार पार हो चुकी है। वहीं, वायरस के पुष्ट मामलों की संख्या 80000 तक पहुंच गई। हालांकि सीओवीआईडी-19 (कोरोना वायरस) का प्रकोप कम हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here