Coronavirus के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक Lockdown बढ़ाया गया

कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में इसके बढ़ते मामले को देखते हुए Lockdown को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. लॉकडाउन के दौरान राज्य में जरूरी दुकानें खुली रहेंगी.

0
560

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत में कोरोना से 5 लाख 48 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 16 हजार 400 से ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. इस बीच कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में इसके बढ़ते मामले को देखते हुए Lockdown को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. लॉकडाउन के दौरान राज्य में जरूरी दुकानें खुली रहेंगी.

बता दें कि महाराष्ट्र में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 64 हजार पार कर गया है. वहीं, राज्य में इस महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 7,429 हो गया है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए कई राज्यों ने लॉकडाउन को बढ़ाया है. इससे पहले पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया था.

इससे पहले रविवार को मुंबई पुलिस ने शहर के निवासियों से कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए व्यायाम करने या दुकानों और सैलूनों में जाने के लिए अपने घरों से दो किलोमीटर के दायरे से आगे न जाने का निवेदन किया था. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि केवल कार्यालय जाने या आपात स्थिति में इलाज कराने के लिए ही दो किलोमीटर के दायरे से आगे जाने की अनुमति है.

एक दिन पहले ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा था कि 30 जून के बाद भी राज्य में लॉकडाउन की पाबंदियां जारी रहेंगी. टेलीविजन पर संबोधन के दौरान ठाकरे ने पाबंदियों में ढील दिए जाने से इनकार करते हुए कहा था कि राज्य में कोरोनावायरस का खतरा अब भी बना हुआ है.

ठाकरे ने कहा कि अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए अनलॉक की प्रक्रिया को धीरे-धीरे लागू किया जा रहा है, जिसे ‘मिशन बिगिन अगेन’ नाम दिया गया है. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से बुरी तरह प्रभावित मुंबई में ‘चेज द वायरस’ पहल के अच्छे परिणाम सामने आए और अब इसे राज्य के दूसरे हस्सों में भी लागू किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here