Coronavirus : चीन से बाहर कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की तादाद ज्यादा हुई

संक्रमण के मामले चीन में सोमवार तक 80,879 थे लेकिन चीन के अलावा दूसरे देशों के सभी संक्रमित लोगों की संख्या 90 हजार पहुंच गई है।

0
415

Coronavirus: कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की तादाद के मामले में रुख अब बदल गया है। अभी तक संक्रमण के मामले चीन (China) में सबसे अधिक बने हुए थे लेकिन अब तस्वीर पलट गई है। संक्रमण के मामले चीन में सोमवार तक 80,879 थे लेकिन चीन के अलावा दूसरे देशों के सभी संक्रमित लोगों की संख्या 90 हजार पहुंच गई है। ऐसा पहली बार हुआ है जबकि संक्रमित लोग चीन से बाहर अधिक हो गए हैं।

इससे संकेत मिलता है कि चीन (China) कोरोना के खिलाफ जंग में जीत की ओर बढ़ रहा है तो बाकी देशों अपनी ढिलाई का खमियाजा भुगत रहे हैं। दूसरे देशों में मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण इमरजेंसी प्रावधानों को तेजी से अमल में लाया जा रहा है। इनमें पूरे देश की नाकेबंदी, हवाई यात्राओं पर रोक, सीमाओं पर कड़ी सुरक्षा, स्कूलों को बंद करने सहित सड़कें खाली करने और रेस्त्रां बंद रखने जैसे उपाय शमिल हैं।

कोरोना (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में अब नायक के तौर पर उभर रहा चीन यह बीमारी वापस न लौट आए, इसे लेकर अभी भी सतर्कता बरत रहा है। इसे देखते हुए चीन ने सोमवार को आदेश दिया कि राजधानी बीजिंग में आने वाले सभी लोग 14 दिन के लिए अनिवार्य रूप से अलग-थलग रखे जाएंगे। चीन के 13 प्रांत अब कोरोना से मुक्त हो चुके हैं लेकिन सर्वाधिक प्रभावित हुबेई प्रांत में हालात ऐसे नहीं हैं।

चीन के पीपुल्स बैंक ऑफ चायना (People’s Bank Of China) ने सोमवार को ऐलान किया कि वह देश की वित्तीय प्रणाली में 100 अरब येन की धनराशि डालेगा। यह कदम देश की पटरी से उतर चुकी अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए उठाया जा रहा है। इससे पहले शुक्रवार को घोषणा की गई थी कि बैंक अब कम नकदी रख सकेंगे। आंकड़ों से पता चलता है कि चीन की अर्थव्यवस्था को कोरोना ने खासा नुकसान पहुंचाया है। जनवरी-फरवरी में देश का खुदरा व्यापार 20 प्रतिशत तक गिर गया था।

ईरान (Iran) के शीर्ष धार्मिक नेता अयातुल्लाह हाशिम बाथाई की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो गई है। राज्य की न्यूज एजेंसी इरना ने सोमवार को यह जानकारी दी। इसमें कहा गया है कि वह उच्च कोटि के धार्मिक विद्वान थे और उन्हें विशेषज्ञों के 88 सदस्यीय दल में शामिल किया गया था। वह ईरान के सर्वोच्च नेता की परिषद में शामिल थे। उन्हें कोम राज्य में शनिवार को भर्ती कराया गया था। गौरतलब है कि ईरान में कई शीर्ष नेता कोरोना की चपेट मे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here