Cyclone Fani Updates: 240-245 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहीं हवाएं, भारी बारिश।

पुरी में कई इलाकों में पानी भर गया है. राज्य के सभी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है. कई पेड़ उखड़ गए और भुवनेश्वर समेत कुछ स्थानों पर बनीं झोपड़ियां तबाह हो गई हैं.

0
642

समुद्र तटीय प्रदेश ओडिशा में चक्रवाती तूफान फेनी (Weather Fani Cyclone) के कारण बारिश हो रही है और तेज हवाएं चल रही हैं. सुरक्षा के मद्देनजर ओडिशा (Odisha) सरकार ने 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है. लोगों को शुक्रवार को घरों में ही रहने की सलाह दी गई है. भयंकर च्रकवात फेनी (Cyclone Fani) ओडिशा के तट की ओर बढ़ता जा रहा है.

समुद्र के किनारे बसे मंदिर शहर पुरी में कई इलाके और अन्य जगहों में पानी भर गया है. राज्य के सभी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है. कई पेड़ उखड़ गए और भुवनेश्वर समेत कुछ स्थानों पर बनीं झोपड़ियां तबाह हो गई हैं. क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, भुवनेश्वर के निदेशक एच. आर. बिस्वास ने कहा, ”चक्रवात सुबह करीब आठ बजे पुरी तट पर पहुंचा और चक्रवात के पहुंचने की प्रक्रिया पूरी होने में करीब तीन घंटे का समय लगेगा.”

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग भुवनेश्वर, के निदेशक एचआर विश्वास ने कहा- गंभीर चक्रवता फेनी के लैंडफॉल की प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू हुई. पुरी के पास लैंडफॉल प्रक्रिया पूरी होने में करीब दो घंटे लगेंगे. यह सुबह 10.30 बजे तक जारी रहेगा.

पश्चिम बंगाल के दीघा स्थित समुद्र तट पर चल रहीं तेज हवाएं. ओडिशा के तट पर दिन में 11 बजे चक्रवाती तूफान फेनी के पहुंचने की आशंका…

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के चक्रवात चेतावनी मंडल ने बताया कि अत्यधिक प्रचंड चक्रवात फेनी जब तट पर पहुंचेगा तो 200-230 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल सकती है.एक अधिकारी ने कहा, ”हमारी ताजा जानकारी के अनुसार सुबह साढ़े पांच बजे चक्रवात फोनी गोपालपुर से 65 किलोमीटर और पुरी से 80 किलोमीटर दूर था.”विभाग ने बताया कि चक्रवात 16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है.

ओडिशा: भुवनेश्वर में तेज हवाएं चल रहीं हैं. जनजीवन प्रभावित हो गया है. चक्रवात फेनी के आज पुरी जिले में पहुंचने की आशंका है. इसका असर दोपहर तक जारी रहने की बात कही जा रही है.

ओडिशा: तस्वीरें जगतसिंहपुर जिले के पारादीप की हैं, जहां चक्रवाती तूफान के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी है.

ओडिशा के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया है कि अब तक 10 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया है.

गृहमंत्रालय ने देश के कई हिस्सों में चक्रवाती तूफान फेनी के कहर की आशंका पर कंट्रोल रूम स्थापित किया है. जिसका नंबर है-1938. इस कंट्रोल रूम से राहत एवं बचाव कार्य का संचालन किया जा रहा है. लोग कंट्रोल रूम को फोन कर मदद मांग सकते हैं.

ओडिशा के गंजम जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि चक्रवाती तूफान फानी के कहर से बचाने के लिए तीन लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया. 541 गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवाती तूफान फेनी के 3 मई को पूर्वाह्न में ओडिशा के तटीय क्षेत्र गोपालपुर और चंदबली को पार करने की आशंका है. इस दौरान 200 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी. दोपहर तक चक्रवात के टकराने की प्रक्रिया जारी रहने की आशंका है.

ओडिशा में रेड क्रास सोसायटी राहत और बचाव कार्य में जुटी है. फेनी से प्रभावित इलाके से एक हजार लोगों को हटा दिया गया है. उन्हें राहत शिविरों में ले जाया गया है.

ओडिशा सरकार ने रायगढ़ के चीफ मेडिकल आफिसर को सस्पेंड कर दिया है. फानी चक्रवाती तूफान के मद्देनजर सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मचारियों की छुट्टिया रद्द कर दी हैं. लेकिन इसके बावजूद मेडिकल शिवप्रसाद पाधी ने ड्यूटी ज्वाइन नहीं की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here