CAA Protest-दिल्ली के सीलमपुर में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज, कई जख्मी

बवाल होने के बाद वेलकम, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं.

0
399

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ जामिया के बाद पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर (Seelampur) इलाके में भी जमकर बवाल हुआ. नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए करीब 2 हजार लोग इकट्ठा हुए थे. भीड़ ने सीलमपुर T-Point से Jafrabad T-Point के बीच पथराव किया. प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान पुलिस चौकी को भी आग के हवाले कर दिया. कई बसों में तोड़फोड़ भी की. इसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. पूरे इलाके में फोर्स तैनात कर दी गई है. बवाल होने के बाद वेलकम, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं.

मालूम हो कि पूर्वोत्तर दिल्ली (North East Delhi) के सीलमपुर इलाके में मंगलवार को संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ रैली निकाली गई जिस दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पथराव किया. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े. इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सीलमपुर T-Point पर लोग एकत्र हुए और दोपहर करीब बारह बजे विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ. प्रदर्शनकारियों ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA), राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) और सरकार के विरोध में नारे लगाए.

रैली में शामिल व्यक्ति ने बताया कि उनका यह विरोध जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई तथा देश में NRC लागू करने के लिए तैयार की जा रही पृष्ठभूमि के खिलाफ है. एक अन्य व्यक्ति ने कहा ‘‘देश में NRC लागू नहीं होना चाहिए. हमारा विरोध इसी बात को लेकर है. पृष्ठभूमि तैयार की जा रही है ताकि NRC देश भर में लागू किया जाए.”

मोबाइल रिपेयरिंग का काम सीख रहे ITI के नूर ने कहा कि इस कानून के जरिये हिंदू मुसलमानों के बीच दरार पैदा की जा रही है. उन्होंने कहा ‘‘जामिया में अगर विरोध प्रदर्शन हुआ भी था तो भी पुलिस को लायब्रेरी और परिसर में घुसने का हक नहीं था.” जाफराबाद थाने के बाहर भी प्रदर्शन हुआ और पुलिस के खिलाफ नारे लगाए गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here