दिल्ली में बारिश ने रिकॉर्ड बनाया, नहीं हुई 120 साल में इतनी बारिश

दिल्ली में इस साल मार्च सबसे ज्यादा बारिश (Rain) वाला महीना साबित हुआ है। यह 120 साल में सर्वाधिक है। इस बार मार्च में 14 दिनों में ही रिकॉर्ड बन चुका है।

0
616

Delhi- दिल्ली में इस साल मार्च सबसे ज्यादा बारिश (Rain) वाला महीना साबित हुआ है। यह 120 साल में सर्वाधिक है। दिल्ली में शनिवार को सुबह और दोपहर हुई झमाझम बारिश के बाद सफदरजंग के मौसम केंद्र में 37 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

इससे पूर्व 13 मार्च तक 64.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई थी। अब तक यहां मार्च में 101.9 मिमी बारिश हो चुकी है। इससे पहले 2015 के पूरे मार्च महीने में 97.4 मिमी वर्षा हुई थी। इस बार मार्च में 14 दिनों में ही रिकॉर्ड बन चुका है।

वेस्ट यूपी (West UP) में मार्च में हुई रिकॉर्डतोड़ बारिश ने जहां लोगों को फिर से ठंड का एहसास करा दिया है, वहीं ओलावृष्टि ने किसानों को बर्बादी की कगार पर पहुंचा दिया है। मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में तो हुई भारी ओलावृष्टि से सड़कों पर बर्फ के ढेर लग गए। जनपदवासियों की मानें तो 50 साल में भी लोगों ने ऐसा मंजर नहीं देखा। सफेद चादर से ढकी सड़कों से गुजरने के लिए लोगों को बर्फ के ढेर हटाने पड़े। इसके अलावा सहारनपुर, बागपत, बिजनौर में भी भारी ओलावृष्टि के साथ तेज बारिश हुई। उधर, बिजनौर के बढ़ापुर में आकाशीय बिजली की गर्जना से तीन माह की मासूम की मौत हो गई। इससे परिवार में कोहराम मचा है।

मुजफ्फरनगर में शनिवार सुबह शहर में नई मंडी इलाके में तेज भारी ओलावृष्टि हुई। लोगों का मानना है कि यह अबतक की सबसे भारी ओलावृष्टि है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सड़कों पर बर्फ की सफेद चादर बिछ गई। लगभा डेढ़ फुट से भी अधिक मोटी सड़कों के ऊपर बर्फ जम गई। लोगों को घर से बाहर निकलने के लिए बर्फ के बड़े बड़े ढेलों को तोड़ना पड़ा। नगर में इस तरह का मंजर पहले कभी नहीं देखा गया।

बिजनौर (Bijnor) के बढ़ापुर क्षेत्र के गांव इस्लामाबाद में आकाशीय बिजली की गर्जना से तीन माह की बच्ची की मौत हो गई। बच्ची की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है। उधर, दिनभर मौसम का मिजाज बदलता रहा। शनिवार तड़के बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई तो दोपहर में धूप खिल गई। शाम को फिर तेज बारिश हुई, जिससे जनजीवन अस्तव्यस्त रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here