दिल्‍ली हाई कोर्ट ने एम्‍स की नर्सों की हड़ताल पर लगाई रोक, 18 जनवरी को होगी अगली सुनवाई

हाई कोर्ट ने नर्सों की हड़ताल पर रोक लगाते हुए इस मामले में 18 जनवरी को अगली सुनवाई की तारीख दी है।

0
753

दिल्‍ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की नर्सों की हड़ताल पर तत्‍काल प्रभाव से रोक लगा दी है। हाई कोर्ट ने नर्सों की हड़ताल पर रोक लगाते हुए इस मामले में 18 जनवरी को अगली सुनवाई की तारीख दी है। न्‍यायमूर्ति नवीन चावला की पीठ ने नर्सों की यूनियन को निर्देश देते हुए हड़ताल पर रोक लगाने को कहा। बता दें कि यूनियन की शिकायतों पर AIIMS ने सकारात्‍मक रुख अपनाते हुए बयान दिया था कि हम उनकी समस्‍याओं पर विचार करेंगे।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक मिल रही ताजा जानकारी के हिसाब से AIIMS प्रशासन ने आज सोमवार की शाम पांच बजे नर्स यूनियन को बैठक के लिए लिए प्रस्‍ताव भेजा है। हालांकि एम्‍स में यह भी साफ कर दिया है कि जो कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर मौजूद नहीं रहेंगे उन्‍हें अनुपस्‍थित ही माना जाएगा।

AIIMS की नर्सों ने सैलरी बढ़ाने की मांग की है। इसलिए AIIMS नर्सिंग यूनियन के कर्मचारी सोमवार से अनिश्‍चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की थी। इसी पर हाई कोर्ट ने रोक लगा दी है। कोर्ट ने यह भी कहा अगर नर्स ड्यूटी रोस्टर के हिसाब से अगर काम पर नहीं आती हैं तो उनकी अनुपस्थिति मानी जाएगी। बता दें कि इस हड़ताल में करीब 5000 कर्मचारी शामिल थे।

AIIMS के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने अपने एक बयान में कहा कि कोरोना महामारी के वक्‍त जब देश लोगों की जान बचाने के लिए लड़ रहा है। और अब यह जंग मात्र कुछ ही माह की है, क्योंकि कोरोना के कई टीके जल्‍द ही आने वाले हैं। यह इस महामारी के लिए वरदान साबित होगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि वैसे भी देश के सामने कम चुनौतियां नहीं हैं। वहीं, नर्सिग यूनियन वेतन बढ़ाने की मांग कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here