अजीत डोभाल को मिली दंगा ग्रस्त उत्तर पूर्व दिल्ली की तनावपूर्ण स्थिति को सामान्य बनाने की ज़िम्मेवारी

डोभाल (Ajit Doval) जाफराबाद और सीलमपुर समेत प्रभावित क्षेत्रों में गये जहां उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें जरूरी निर्देश दिये।

0
405

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) को दंगा ग्रस्त उत्तर पूर्व दिल्ली की तनावपूर्ण स्थिति के मद्देनजर वहां की स्थिति पर नजर बनाए रखने और यथाशीघ्र उसे सामान्य बनाने को कहा है। अधिकारियों ने बुधवार (26 फरवरी) को यह जानकारी दी।

अधिकारियों के अनुसार यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के वापस रवाना होने के तत्काल बाद 75 वर्षीय डोभाल ने मंगलवार (25 फरवरी) रात को दिल्ली पुलिस के आयुक्त अमूल्य पटनायक, नवनियुक्त विशेष आयुक्त एस एन श्रीवास्तव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दंगाग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया।

कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त डोभाल (Ajit Doval) जाफराबाद और सीलमपुर समेत प्रभावित क्षेत्रों में गये जहां उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें जरूरी निर्देश दिये। उन्होंने तनाव कम करने के लिए विभिन्न समुदायों के नेताओं के साथ बैठक भी की। अधिकारियों के अनुसार बाद में डोभाल ने प्रधानमंत्री की अगुवाई वाली सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति (CCS) के सामने स्थिति का मौके पर किया गया अपना विश्लेषण पेश किया और सांप्रदायिक दंगे की गिरफ्त में फंसे क्षेत्रों में हिंसा खत्म करने और स्थिति सामान्य करने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में बताया।

CCS में प्रधानमंत्री के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर हैं। डोभाल (Ajit Doval) फिर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंच गए। वहां उन्होंने स्थानीय लोगों से भेंट की और उन्हें आश्वस्त किया कि स्थिति नियंत्रण में है। अपने इस दौरे के दौरान डोभाल ने कहा कि वह मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के निर्देश पर आए हैं। उन्होंने कहा, ”पुलिस जोर-शोर से काम कर रही है। सिर्फ कुछ अपराधी इसमें शामिल थे। लोगों को मुद्दों का समाधान करने का प्रयास करना चाहिए, न कि उसे बढ़ाने का। पहले घटनाएं हुईं, लेकिन आज शांति है। स्थानीय लोग शांति चाहते हैं। हमें पूरा विश्वास है कि शांति होगी।”

डोभाल (Ajit Doval) बुधवार (26 फरवरी) को गृह मंत्री अमित शाह को उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी देने के लिए दोपहर को नॉर्थ ब्लॉक लौटे। इस बैठक में केद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के प्रमुख अरविंद कुमार और पटनायक भी शामिल हुए। इस बैठक में शाह और डोभाल ने स्थिति पर चर्चा की और राष्ट्रीय राजधानी में शांति की शीघ्र बहाली की रणनीति तैयार की। उत्तर पूर्व दिल्ली में तीन पहले शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा में 27 लोग मारे जा चुके हैं। जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, यमुना विहार, भजनपुरा, चांदबाग और शिवविहार दंगे से प्रभावित हुए हैं। पूर्व खुफिया ब्यूरो प्रमुख डोभाल अपनी सीधी पहल के लिए जाने जाते हैं। उन्हें प्रधानमंत्री का विश्वस्त माना जाता है। पिछले साल अगस्त में जब अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त किया था तब भी डोभाल एक पखवाड़े तक जम्मू कश्मीर में डेरा डाले रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here