Bank Fraud Case: रतुल पुरी को न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजा गया

रतुल पुरी को 354 करोड़ के बैंक फ्रॉड मामले में ED की रिमांड पूरी होने पर दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजा दिया.

0
1255

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी (Ratul Puri) को 354 करोड़ के बैंक फ्रॉड मामले (Bank Fraud Case) में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की रिमांड पूरी होने पर दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court) ने मंगलवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल (Tihar Jail) भेजा दिया. रतुल पुरी ( Ratul Puri ) के वकील विजय अग्रवाल की दरख्वास्त पर स्पेशल जज संजय गर्ग ने जेल सुप्रिंटेंडेंट को आदेश दिया कि रतुल पुरी को जेल से कोर्ट में एक सेपरेट वाहन में लाया जाए, अन्य कैदियों के साथ नहीं.

कोर्ट ने कहा कि जो दवाईयां रतुल पुरी (Ratul Puri) के लिए आवश्यक हैं और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा बताई गई हैं, वे उन्हें जेल मेन्युअल के अनुसार उपलब्ध करवाई जाएं. रतुल पुरी को 17 सितंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

इससे पहले दिल्ली की रॉउस एवेन्यू अदालत (Rouse Avenue Court) ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा दर्ज बैंक कर्ज धोखाधड़ी से संबंधित धन शोधन के मामले में शुक्रवार को रतुल पुरी को चार दिन तक और हिरासत में रखने का आदेश दिया था. विशेष न्यायाधीश संजय गर्ग ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) की याचिका पर यह आदेश दिया था.

रतुल पुरी को ED ने इस मामले में 20 अगस्त को गिरफ्तार किया था. रतुल पुरी तभी से ED की हिरासत में थे.

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank Of India) द्वारा शिकायत के बाद पहले CBI ने केस दर्ज किया था. उसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मामला दर्ज किया. CBI ने कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के अलावा उनके पिता दीपक पुरी और मां नीता पुरी के खिलाफ भी ठगी और जालसाजी का केस दर्ज किया था. 26 जुलाई को ईडी दफ्तर से रतुल पुरी फरार हो गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here