PM मोदी का ममता बनर्जी को जवाब: दीदी, आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद बन जाएगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा 'मैं आपको आश्वासन देने आया हूं कि जिन घुसपैठियों को दीदी ने, टीएमसी का काडर बनाया है, उनकी चुन-चुन कर पहचान होगी.

0
104

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर गुरुवार को पश्चिम बंगाल में एक रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी के थप्पड़ वाले ब्यान का जवाब दिया।

पीएम मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद बन जाएगा। पीएम ने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि यहां दीदी ने कहा है कि वो मोदी को थप्पड़ मारना चाहती हैं। ममता दीदी, मैं तो आपको दीदी कहता हूं, आपका आदर करता हूं, आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद बन जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि तृणमूल कांग्रेस सरकार को फिरौती सिंडिकेट चला रहा है। इस आरोप से नाराज़ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि, ‘नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र का एक जोरदार तमाचा लगना चाहिये.’ उन्होंने भाजपा के राष्ट्रवादी एवं देशभक्त दावों पर प्रश्न करते हुए कहा कि वह ‘आरएसएस का आदमी’ ही था जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी.

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘कहते हैं, पुरुलिया जो आज सोचता है, वही कल पश्चिम बंगाल की सोच बन जाती है. जिन्होंने पश्चिम बंगाल में गणतंत्र को गुंडातंत्र में बदला है, उनके दिन अब गिनती के रह गए हैं। पहला धक्का 23 मई को लगेगा और फिर दीदी की दमनकारी सत्ता का पतन शुरु हो जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा ‘मैं आपको आश्वासन देने आया हूं कि जिन घुसपैठियों को दीदी ने, टीएमसी का काडर बनाया है, उनकी चुन-चुन कर पहचान होगी. जो यहां हमारी बेटियों को परेशान करते हैं, हमारे सभ्य बंगाली मानुष को परेशान करते हैं, उनकी पहचान की जाएगी.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साथ ही कहा, ‘लेकिन ये भी कहूंगा कि अगर आपने अपने उन साथियों को थप्पड़ मारने का दम दिखाया होता, जिन्होंने चिटफंड के नाम पर गरीबों की कमाई लूट ली, तो आपको इतना डर ना लगता. अगर आप उन टोलाबाज़ों को थप्पड़ मारतीं तो आज ट्रिपल यानि तृणमूल टोलाबाज टैक्स का दाग आप पर ना लगता.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘मां, माटी और मानुष की बात करके दीदी ने आप सभी का वोट लिया. लेकिन आज पश्चिम बंगाल की क्या स्थिति है? मां अपनी संतानों की सुरक्षा के लिए परेशान है. माटी, लोकतंत्र प्रेमी निर्दोष नागरिकों के खून से लाल रंग में रंग गई है. और मानुष डर के साए में जीने को मजबूर है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here