Exit Poll ने माहौल पीएम मोदी के पक्ष में बताया, विपक्ष ने कहा गलत हैं रिजल्ट।

एग्जिट पोल पर BJP ने उत्साहित प्रतिक्रिया दी और कहा कि इससे PM Modi के पक्ष में माहौल का पता चलता है. विपक्षी दलों ने एग्जिट पोल को खारिज किया है.

0
262

Exit Poll 2019: एग्जिट पोल पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने उत्साहित प्रतिक्रिया दी और कहा कि इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के पक्ष में माहौल का पता चलता है. हालांकि, विपक्षी दलों ने एग्जिट पोल को खारिज किया है.

चुनाव परिणाम की घोषणा से पहले आये कई एग्जिट पोल में मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार की वापसी का पूर्वानुमान जताया गया है. भाजपा के प्रवक्ता जी.वी.एल. नरसिम्हा राव ने कहा कि लोगों ने मोदी के अच्छे प्रशासन को पुरस्कार दिया है. उन्होंने कहा, ‘एग्जिट पोल से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के लिये बेहद सकारात्मक मतदान होने के स्पष्ट संकेत मिलते हैं. मोदी ने अतुल्य समर्पण से देश की सेवा की है. लोग अच्छे प्रशासन को पुरस्कार देते हैं, यह एक बार फिर से उत्साहजनक जनमत से साबित हुआ है. यह बुराइयां करने वाले उस विपक्ष को तमाचा है जो आधारहीन आरोप लगाता है और झूठ बोलता है.’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने एग्जिट पोल को ‘अटकलबाजी’ करार देते हुए कहा कि उन्हें ऐसे सर्वेक्षणों पर भरोसा नहीं क्योंकि इस ‘रणनीति’ का इस्तेमाल ईवीएम में ‘गड़बड़ी’ करने के लिए किया जाता है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं एग्जिट पोल के कयासों पर भरोसा नहीं करती. यह रणनीति अटकलबाजी के जरिए हजारों ईवीएम को बदलने या उनमें हेरफेर करने के लिए प्रयुक्त होती है. मैं सभी विपक्षी पार्टियों से एकजुट, मजबूत और साहसी रहने की अपील करती हूं.’

कांग्रेस (Congress) के शशि थरूर ने दावा किया कि एग्जिट पोल गलत होते हैं. उन्होंने अपनी बात सही साबित करने के लिये आस्ट्रेलिया के चुनाव का हवाला दिया जहां कई एग्जिट पोल गलत साबित हुए. हालांकि, कांग्रेस की सहयोगी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि सारे एग्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘सारे एग्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं. यह टीवी बंद करने, सोशल मीडिया से लॉग आउट करने का समय है तथा यह देखना है कि क्या 23 मई के बाद दुनिया अपनी धुरी पर अभी भी घूम रही है.’

कांग्रेस के प्रवक्ता संजय झा ने कहा कि शांत मतदाता ही 23 मई को राजा साबित होंगे. भाकपा के डी राजा ने भी पूर्वानुमान को खारिज करते हुए कहा कि ये सिर्फ ट्रेंड भर हैं.

वहीं उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को एग्जिट पोल के बारे में कहा कि ये वास्तविक परिणाम नहीं हैं. उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘एग्जिट पोल वास्तविक परिणाम नहीं होते. हमें यह समझना चाहिए. 1999 से अधिकतर एक्जिट पोल गलत हुए.’ मौजूदा आम चुनाव का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि हर पार्टी (अपनी जीत के बारे में) आश्वस्त रहती है. उन्होंने कहा, ‘(मतगणना के दिन) 23 तारीख तक हर कोई अपने आत्मविश्वास का प्रदर्शन करता है. इसका कोई आधार नहीं होता. इसलिए हमें 23 तक इंतजार करना चाहिए.’ नायडू ने कहा, ‘देश और राज्य को एक कुशल नेता और स्थिर सरकार की जरूरत होती है, चाहे जो हो. बस इतना ही.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here