CAA के मुद्दे पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से भिड़े इतिहासकार इरफान हबीब

इरफान हबीब ने राज्यपाल के उद्घाटन भाषण को बाधित करने की कोशिश की. उन्होंने मौलाना अबुल कलाम आजाद को कोट करने पर राज्यपाल के कहा कि उन्हें गोडसे को कोट करना चाहिए.

0
313

केरल के कन्नूर विश्वविद्यालय में आयोजित भारतीय इतिहास कांग्रेस (Indian History Congress) के मंच पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान (Arif Mohammad Khan) से इतिहासकार इरफान हबीब (Irfan Habib) भिड़ गए. उन्होंने राज्यपाल पर गुस्से का इजहार किया. आरोप है कि इरफान ने राज्यपाल की सुरक्षा में तैनात कर्मियों से धक्का-मुक्की भी की.

केरल के राज्यपाल के आधिकारिक Twitter हैंडल से भी मंच पर सुरक्षाकर्मियों से उलझे इरफान हबीब (Irfan Habib) की तस्वीर जारी की गई है. केरल गवर्नर के आधिकारिक Twitter हैंडल से किए Tweet में कहा गया है, “इरफान हबीब ने राज्यपाल के उद्घाटन भाषण को बाधित करने की कोशिश की. उन्होंने मौलाना अबुल कलाम आजाद को कोट करने पर राज्यपाल के कहा कि उन्हें गोडसे को कोट करना चाहिए. उन्होंने (Irfan Habib) राज्यपाल के ADC और सुरक्षाकर्मी को धक्का भी दिया.”

जब राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान (Arif Mohammad Khan) भारतीय इतिहास कांग्रेस के 80वें सत्र का उद्घाटन भाषण दे रहे थे, तो उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर बोलना शुरू कर दिया, जिसका कुछ लोगों ने विरोध किया. इस दौरान इतिहासकार इरफान हबीब मंच पर चढ़ गए.

राज्यपाल ने कहा, “आपको विरोध करने का पूरा अधिकार है, मगर मुझे चुप नहीं करा सकते. जब आप बहस और चर्चा के दरवाजे बंद करते हैं तो आप हिंसा को बढ़ावा दे रहे हैं.” राज्यपाल ने यह भी कहा कि वह इस मसले पर नहीं बोलने वाले थे, मगर जब पूर्व के वक्ताओं ने CAA पर बोलना शुरू किया तो उन्हें भी लगा कि सवालों का जवाब देना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here