Farmers’ Protest: किसानाें का ‘रेल रोको’ आज

किसान नेताओं ने कहा कि बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था की जाएगी, बीमारों की जरूरत का ध्यान रखा जाएगा। किसी यात्री को बहुत जल्दी होगी, तो उसके लिए वाहन का भी इंतजाम कराया जाएगा।

0
554

केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान संगठनों ने बृहस्पतिवार को ‘रेल रोको’ अभियान का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि देशभर में दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक ट्रेनें रोकी जाएंगी। भाकियू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि गांवों के लोग वहीं पर इस अभियान में शामिल होंगे। किसान नेताओं ने दावा किया कि यात्रियाें को परेशानी नहीं होने दी जाएगी। कुछ रेलवे स्टेशनों पर चाय व लंगर लगाने की तैयारी है।

किसान नेताओं ने कहा कि बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था की जाएगी, बीमारों की जरूरत का ध्यान रखा जाएगा। किसी यात्री को बहुत जल्दी होगी, तो उसके लिए वाहन का भी इंतजाम कराया जाएगा। किसान नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल ने कहा कि शांति व्यवस्था बनाए रखना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अगर आंदोलन शांतिपूर्ण रहेगा, तो मजबूत होगा और हिंसा होने पर यह कमजोर हो जाएगा।

उधर, रेलवे ने पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही देशभर में रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 20 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की हैं। रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने बुधवार को कहा, ‘मैं सभी से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। हम जिला प्रशासनों के साथ संपर्क बनाए रखेंगे और नियंत्रण कक्ष बनाएंगे।’ उन्होंने कहा, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों और कुछ अन्य क्षेत्रों पर हमारा ध्यान केंद्रित रहेगा। हमने इन क्षेत्रों में रेलवे सुरक्षा विशेष बल की 20 कंपनियों (लगभग 20,000 कर्मियों) को तैनात किया है। कुमार ने कहा हम किसानों को इस बात पर राजी करना चाहते हैं कि यात्रियों को कोई असुविधा नहीं हो, हम चाहते हैं कि यह अभियान शांतिपूर्ण ढंग से समाप्त हो जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here