JNU हिंसा में जख्मी हुईं JNU छात्रसंघ की अध्यक्ष ऐशी घोष के खिलाफ केस दर्ज

JNU में हुई हिंसा से एक दिन पहले यूनिवर्सिटी के सर्वर रूम में कथित रूप से तोड़फोड़ करने के मामले में JNU छात्रसंघ अध्यक्ष ऐशी घोष और 19 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

0
440

JNU Violence- दिल्ली पुलिस ने रविवार शाम जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में हुई हिंसा से एक दिन पहले यूनिवर्सिटी के सर्वर रूम में कथित रूप से तोड़फोड़ करने के मामले में JNU छात्रसंघ अध्यक्ष ऐशी घोष (Aishi Ghosh) और 19 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 3 जनवरी के मामले में भी एक FIR दर्ज की गई है, लेकिन उसमें घोष का नाम नहीं है. जबकि लेफ्ट विंग के छात्रों के नाम दर्ज है. 4 जनवरी को जो मारपीट और सर्वर रूम तोड़ने की FIR है उसमें ऐशी घोष और उनके 7-8 साथियों के नाम है. ये दोनों FIR जेएनयू प्रशासन (JNU Administration) की तरफ से दर्ज कराई गई थी. JNU में हुई हिंसा में कुछ छात्रों और शिक्षकों समेत 34 लोग जख्मी हुए हैं. इस हिंसा में ऐशी घोष को सिर में चोट आई थी.

वहीं, दूसरी ओर हाथों में टैम्बोरिन और गिटार लिए तथा क्रांति के गीत गाते प्रदर्शनकारियों ने JNU में हुए हमले के विरोध में गेटवे ऑफ इंडिया (Gateway Of India) और ताज महल पैलेस होटल के बाहर रातभर प्रदर्शन किया. हालांकि, पुलिस ने बताया कि अब प्रदर्शनकारियों को गेटवे ऑफ इंडिया से हटाकर आजाद मैदान भेज दिया गया है. रविवार आधी रात को दक्षिण मुम्बई के कोलाबा में गेटवे ऑफ इंडिया के सामने बड़ी संख्या में छात्रों और महिलाओं सहित बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे. बाद में अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर और विशाल ददलानी जैसी बॉलीवुड हस्तियां भी यहां पहुंची.

गौरतलब है कि JNU परिसर में रविवार रात लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था. बाद में प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा.

आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) , टीआईएसएस (TISS) और एएसएफआई (ASFI) के छात्रों समेत कई छात्र संगठनों के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ नारे भी लगाए. प्रदर्शन स्थल पर भारी पुलिस की तैनाती की गई थी और प्रदर्शनकारियों को पानी, चाय, बिस्कुट और फल दिए गए. नागरिक निकायों ने शौचालय की व्यवस्था भी की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here