सिगरेट से ज्यादा खतरनाक है फ्लेवर हुक्का, अटैक और स्ट्रोक की बनता है वजह

0
467

पुराने समय में लोग हुक्का बड़े शौक से पीते थे। आजकल दोबारा फिर से लोगों में हुक्का पीने का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है। पार्टी या फिर किसी खास महफिल में हुक्का को अहमियत दी जाती है। इसमें कई तरह के फ्लेवर होते हैं। लड़कों से साथ-साथ कुछ लड़कियां भी इसका एक कश लगा ही लेती हैं क्योंकि लोग सोचते हैं कि इसका कोई नुकसान नहीं होता। आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं तो बता दें कि यह गलत है। हुक्का सेहत को सिगरेट जितना ही नुकसान पहुंचाता है। यह बात हाल ही में हुई एक रिसर्च से सामने आई है की हुक्का पीने से दिल को उतना ही खतरा होता है, जितना कि सिगरेट पीने से।

रिसर्च से हुई पुष्टि
हिन्दुस्तान की एक रिपोर्ट के मुताबिक युनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के तरह से एक रिसर्च की गई। जिसमें इस बात की पुष्टि हुई कि हुक्के में हशिश (एक प्रकार का ड्रग) का इस्तेमाल होता है। जो सेहत को बुरी तरह से प्रभावित करता है। हालांकि सिगरेट में इस्तेमाल होने वाले तंबाकू में यह ड्रग नहीं होता।

दिल की बीमारी होने का खतरा
रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि जो लोग हुक्का पीते हैं, धीरे-धीरे उनकी धमनियां सख्त होने लगती हैं। जिससे दिल की बीमारिया होने के चांस बढ़ जाते हैं। हुक्का पीने के शौकिन लोगों को दिल की बीमारी होने की जल्दी होने की संभावना उतनी ही बढ़ जाती है, जितना कि स्मोकिंग करने वाले लोगों को इसका खतरा होता है। यह हार्ट अटैक, स्ट्रोक और कार्डियोवैस्कुलर जैसी जानलेवा बीमारियों का कारण बनता है।

फ्लेवर हुक्का है भी नुकसानदायक
कुछ लोग इस गलत फहमी में भी हुक्का पीते हैं कि फ्लेवर से किसी तरह का नुकसान नहीं होता। इसी कारण शायद आज कल के युवा लड़के और लड़कियों में इसका चलन बढ़ता जा रहा है। शोधकर्ता लोगों की इस सोच को लेकर उन्हें आगाह कर रहे हैं क्योकि इसमें सिगरेट की तरह निकोटीन पाए व अन्य हानिकारक तत्व पाए जाते हैं। जो सेहत को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचानेे का काम करते हैं। आप भी मॉडर्न लाइफस्टाल से प्रभावित होकर पार्टी में हुक्का बार का आयोजन कर रहे हैं तो इसके नुकसान को देखते हुए संभल जाएं। कहीं, बाद में सेहत तो लेकर पछताना न पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here