पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का निधन।

पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का मंगलवार रात निधन हो गया. वह 67 वर्ष की थीं.

0
323

पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का मंगलवार रात निधन हो गया. वह 67 वर्ष की थीं. आज 11 बजे तक उनके निवास स्थल पर सुषमा स्वराज के अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे. दोपहर 12 बजे उनके पार्थिव शरीर को बीजेपी के मुख्यालय लाया जाएगा और दोपहर तीन बजे उनका अंतिम संस्कार होगा. जानकारी के मुताबिक स्वराज को रात करीब साढ़े नौ बजे यहां अस्पताल लाया गया और उन्हें सीधे इमरजेंसी वॉर्ड में ले जाया गया. एम्स के डॉक्टरों ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) के निधन पर मंगलवार को गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि भारतीय राजनीति में एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गयाय भारत एक असाधारण नेता के निधन से शोकसंतप्त है, जिन्होंने जनसेवा और निर्धनों के जीवन में सुधार के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. सुषमा जी अपने आप में अलग थीं और करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत थीं.

स्वराज (Sushma Swaraj) के AIIMS में भर्ती होने के बाद अनेक वरिष्ठ नेता अस्पताल पहुंचे. जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने और राज्य को दो केन्द्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम से बेहद प्रसन्न स्वराज ने शाम के समय Tweet कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई दी थी. स्वराज ने Tweet किया था, ‘नरेन्द्र मोदी जी- धन्यवाद प्रधानमंत्री. आपका बहुत-बहुत धन्यवाद. मैं अपने जीवनकाल में यह दिन देखने का इंतजार कर रही थी.

मोदी (PM Modi) ने एक के बाद एक कई Tweet कर स्वराज को असाधारण वक्ता और उत्कृष्ट सांसद बताया साथ ही कहा कि सभी राजनीतिक दलों के लोग उनकी तारीफ करते थे और उनका सम्मान करते थे. पीएम मोदी ने कहा, ‘जब बात विचारधारा की आती थी या फिर बीजेपी के हितों की आती थी तो वह किसी प्रकार का समझौता नहीं करती थीं, जिसे आगे ले जाने में उनका बहुत योगदान था.’ उन्होंने कहा,’एक उत्कृष्ट प्रशासक, सुषमा जी ने जो भी मंत्रालय संभाला, उसमें उच्च मानक स्थापित किए. उन्होंने विभिन्न देशों के साथ भारत के संबंधों को सुधारने में अहम भूमिका निभाई. एक मंत्री के तौर पर हमने उनका करुणामय पक्ष भी देखा जो विश्व के किसी भी कोने में परेशान भारतीय की मदद करता था.’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने ट्वीट किया,’सुषमा स्वराज के निधन के बारे में जानकर बेहद स्तब्ध हूं. देश ने एक प्यारा नेता खो दिया है जो सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा का प्रतीक था. दूसरों की मदद के लिए वह हमेशा तैयार रहती थीं. भारत की जनता की सेवा के लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि वह बेहद मूल्यवान सहयोगी के असामयिक निधन से गहरे सदमे और दुख में हैं. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, ‘सुषमा स्वराज के निधन के बारे में सुनकर बेहद स्तब्ध हूं. इस खबर को स्वीकार करना मुश्किल है, पूरा देश शोकाकुल है और उससे भी ज्यादा विदेश मंत्रालय.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने Tweet कर कहा, ‘सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं. वह एक अद्भुत नेता थीं जिनकी पार्टी लाइन से इतर मित्रता थी.’ उन्होंने कहा, ‘दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. ऊॅं शांति.’

गौरतलब है कि भाजपा की वरिष्ठ नेता का 2016 में गुर्दा प्रतिरोपित (Kidney Transplant) किया गया था और स्वास्थ्य कारणों से उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था. उनके परिवार में पति स्वराज कौशल और बेटी बांसुरी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here