राजकीय सम्मान के साथ दोपहर तीन बजे होगा सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार

सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का अंतिम संस्कार लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में पूरे राजकीय सम्मान के साथ दोपहर 3 बजे किया जाएगा.

0
440

पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात निधन हो गया. वह 67 साल की थीं. पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज की पार्थिव शरीर आज तीन घंटे के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा जहां पार्टी कार्यकर्ता और नेता उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे.

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का अंतिम संस्कार लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में पूरे राजकीय सम्मान के साथ दोपहर 3 बजे किया जाएगा. एम्स के सूत्रों ने बताया कि स्वराज को रात करीब साढ़े नौ बजे यहां अस्पताल लाया गया और उन्हें सीधे आपातकालीन वॉर्ड में ले जाया गया. एम्स के डॉक्टरों ने बताया कि हृदय गति रुकने से उनका निधन हो गया.

बता दें कि जंतर-मंतर स्थित उनके निवास पर सुबह 8 से 10.30 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए उनके पार्थिव शरीर को रखा जाएगा. इसके बाद सुबह 11 से दोपहर 2.30 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव शरीर को पार्टी कार्यालय में रखा जाएगा. यह से उनकी अंतिम यात्रा निकलेगी, दोपहर 3 बजे लोधी रोड स्थित शमशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा.

सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन से पूरे राजनीतिक जगत में शोक की लहर है. न सिर्फ बीजेपी बल्कि अन्य दल के नेताओं ने भी स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त किया गया है. सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) बीजेपी की दिग्गज नेत्री थीं जिनकी तारीफ विपक्ष के नेता भी करते थे. उनके अस्वस्थ होने की खबर मिलते ही बीजेपी के कई दिग्गज नेता और मंत्री एम्स पहुंच गए थे. इनमें नितिन गडकरी, डॉ हर्षवर्धन, राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी शामिल थीं. नौ बार सांसद रहीं सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) आम लोगों मे अपार लोकप्रिय थीं. उनको ट्वीटर पर एक करोड़ 20 लाख से अधिक लोग फॉलो करते थे. वे दिल्ली की मुख्यमंत्री रही थीं. सुषमा स्वराज सन 1977 में सबसे कम उम्र की राज्यमंत्री बनी थीं. अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में वे सूचना एवं प्रसारण मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री रहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here