गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को हुई खून की उल्टी, हालत स्थिर।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को खून की उल्टी हुई है। हालांकि जांच के दौरान सीने में किसी तरह का संक्रमण (infection) नहीं निकला है।

0
144

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर (GOA CM Manohar Parrikar) को खून की उल्टी हुई है। हालांकि जांच के दौरान सीने में किसी तरह का संक्रमण (infection) नहीं निकला है। यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता प्रमोद सावंत (Pramod Sawant) ने दी है। सावंत ने कहा- मैं मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर और डॉ. प्रमोद गर्ग से मिला. डॉक्टर ने कहा कि हालत स्थिर है। सीने में इन्फेक्शन नहीं है, हालांकि उन्होंने खून की उल्टियां कीं। हाल में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे (Vishwajeet Rane) ने कहा था कि गोवा मेडिकल कॉलेज में भर्ती मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत अब स्थिर है। मीडिया से बात करते हुए राणे ने कहा- मैने कुछ वक्त मुख्यमंत्री के साथ बिताए. वह आज घर जाना चाहते हैं। मगर मैने उनसे एक दिन और अस्पताल में रुकने के लिए कहा। उधर, मनोहर पर्रिकर के अस्पताल में भर्ती होने पर विपक्षी कांग्रेस ने सोमवार को राज्य सरकार से उनकी चिकित्सा स्थिति के बारे में ‘‘अफवाहों और अटकलों” पर विराम लगाने के लिए नियमित स्वास्थ्य बुलेटिन (Medical Bulletin) जारी करने की मांग की है। विपक्ष के नेता चंद्रकांत कवलेकर (Chandrakant Kavlekar) ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सोमवार शाम को कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की हुई बैठक में यह सहमति बनी कि पर्रिकर की चिकित्सा स्थिति के बारे में उठ रही अफवाहों और अटकलों पर विराम लगाने के लिए राज्य सरकार को मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य संबंधी बुलेटिन जारी करना चाहिए।”

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर

दरअसल, लंबे समय से बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को शनिवार की रात को गोवा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच – GMCH) में भर्ती कराया गया। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, उन्हें उच्च गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल एंडोस्कोपी के लिए गोवा मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। फिलहाल पर्रिकर की सेहत स्थिर बनी हुई है और उन्हें करीब 48 घंटे डॉक्टरों की देखरेख में रखा जाएगा। मनोहर पर्रिकर को अस्पताल ले जाने के बाद जीएमसीएच के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इससे पहले गोवा सरकार के वरिष्ठ मंत्री विजय सरदेसाई ने मुख्यमंत्री से उनके आवास पर मुलाकात की थी। इसके बाद सरदेसाई ने पर्रिकर को जीवन रक्षक प्रणाली पर रखे जाने की खबरों को खारिज कर दिया. आपको बता दें कि पर्रिकर पिछले करीब एक साल से अस्वस्थ चल रहे हैं। उन्हें पैंक्रियाज संबंधी समस्या है।

मनोहर पर्रिकर अमेरिका में भी इलाज करवा चुके हैं। साथ ही वह कुछ दिन दिल्ली के एम्स में भी भर्ती रहे हैं। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष व सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक माइकल लोबो ने कहा था कि मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर जीवित रहने तक पद पर बने रहेंगे, हालांकि पैन्क्रिएटिक कैंसर के चलते उनकी सेहत में उतार-चढ़ाव बना रहता है। लोबो ने उत्तरी गोवा के अपने कालान्गुते विधानसभा क्षेत्र में ग्राम पंचायत द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था कि जब तक पर्रिकर राज्य सरकार चला रहे हैं, यहां तक कि बीमारी में भी भाजपा की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार बनी रहेगी. उन्होंने कहा, “वह (Parrikar) एक ऐसे शख्स हैं जो कभी आराम नहीं करना चाहेंगे। जब तक वह इस दुनिया में हैं। मुझे लगता है कि वह पद नहीं छोड़ेंगे। वह गोवा के लोगों के लिए काम करते रहेंगे।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here