हम लोगों का गुस्सा झेल सकते हैं लेकिन शवों का अंबार नहीं देख सकते- अनिल विज

कोरोना पर काबू पाने के दो तरीके हैं। पहला- लॉकडाउन, जो कि संभव नहीं है और दूसरा तरीका यह है कि कोविड-19 से जुड़े सख्त नियमों को लागू किया जाए - अनिल विज

0
472

Haryana: कोरोना से देशभर में जारी कोहराम और कई राज्यों से आ रही रिकॉर्ड मौतों की खबरों के बीच हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि भले ही लोग नाराज क्यों न हो जाएं लेकिन इसके बावजूद सरकार को कड़े कोरोना प्रतिबंध लागू करने चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों का गुस्सा झेल सकती है लेकिन शवों का अंबार नहीं। उन्होंने कोरोना की रोकथाम के लिए दो उपाय भी बताए हैं।

विज ने कहा, ‘कोरोना पर काबू पाने के दो तरीके हैं। पहला- लॉकडाउन, जो कि संभव नहीं है। हम चाहते हैं कि लोगों का जीवन भी सुरक्षित रहे और उनका जीवन भी अच्छे से कटता रहे।’

उन्होंने आगे कहा, ‘कोरोना पर लगाम कसने का दूसरा तरीका यह है कि कोविड-19 से जुड़े सख्त नियमों को लागू किया जाए। मैंने अफसरों को कहा है कि वे सख्त नियमों का पालन करें, भले ही इससे लोग नाराज क्यों न हों। हम उनका गुस्सा झेल सकते हैं लेकिन हम शवों का अंबार नहीं देख सकते।’
हालांकि, विज ने यह भी कहा कि भारत में रिकवरी रेट बाकी देशों की तुलना में कहीं ज्यादा है और यहां मौत की दर भी कम है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, फिलहार हरियाणा में कोरोना वायरस के 27 हजार 421 ऐक्टिव केस हैं। वहीं, राज्य में कोरोना से अब तक 3 हजार 316 लोगों की जान जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here