टिकट बंटवारे में खींचतान के कारण हरियाणा कांग्रेस में बवाल

Haryana Assembly Election के लिए प्रत्‍याशियों की सूची जारी होने से पहले ही हरियाणा कांग्रेस (Haryana Congress) में बवाल हो गया है।

0
281

Haryana Assembly Election के लिए प्रत्‍याशियों की सूची जारी होने से पहले ही हरियाणा कांग्रेस (Haryana Congress) में बवाल हो गया है। हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष डॉ. अशोक तंवर (Dr Ashok Tanwar) भारी संख्‍या मे अपने समर्थकों के साथ दिल्‍ली में कांग्रेस मुख्‍यालय पर प्रदशर्न कर रहे हैं। तंवर और उनके समर्थक जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। तंवर समर्थक पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हु्ड्डा, गुलाम नबी आजाद सहित कई नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।

अशोक तंवर के समर्थक सुबह से कांग्रेस मुख्यालय के सामने धरना दे रहे थे। दोपहर बाद खुद तंवर भी वहां पहुंचे और इसके बाद समर्थकों का जोश सातवें आसमान पर पहुंच गया और उन्‍होंने वहां जबर्दस्‍त नारेबाजी शुरू कर दी। एक कार की छत पर चढ़कर अशोक तंवर ने भी नारेबाजी में समर्थकों का साथ दिया। प्रदर्शनकारी वहां पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupender Hudda), उनके पुत्र दीपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस के हरियाणा प्रभारी गुजाम नबी आजाद के खिलाफ नारे लगा। इससे पूरा माहौल तनावपूर्ण हाे गया।

बता दें कि कांग्रेस हरियाणा में अपने प्रत्‍याशियों की घोषणा अब तक नहीं कर पाई है, जबकि नामांकन में अब दो दिन ही शेष रह गए हैं। पार्टी में टिकट बंटवारे में खींचतान के कारण अब तक प्रत्‍याशियों की सूची फाइनल नहीं हाे पा रही है। इससे पार्टी के विधानसभा चुनाव अभियान को लेकर गंभीर समस्‍या बन गई है।

बता दें कि पिछले कई दिनों से कांग्रेस में टिकट वितरण को लेकर मारामारी चल रही है। मंगलवार को भी हालत यह हो गई कि हरियाणा के कांग्रेसी पार्टी की कार्यवाहक राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के आवास के बाहर ही आपस में भिड़ गए। मंगलवार शाम जब राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के निवास पर केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक खत्म हुई तो वहां एकत्र पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी।

ये कार्यकर्ता सोनिया के आवास से लेकर कांग्रेस मुख्यालय परिसर तक समिति की बैठक खत्म होने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही बैठक खत्म हुई और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपनी गाड़ी से बाहर निकले तो कुछ कार्यकर्ताओं ने डॉ. अशोक तंवर जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। इसके बाद हुड्डा समर्थकों ने भी एकत्रित होकर अपने नेता के नारे लगाए। स्थिति तनावपूर्ण तो रही मगर यहां कार्यकर्ता खुद ही शांत होकर चले गए।

इस दौरान तंवर समर्थकों ने कहा कि वे चुनाव मैदान में पैराशूट से उतारे जाने वाले पार्टी प्रत्याशियों का विरोध करने आए हैं। साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी तक अपना यह संदेश भी पहुंचाने आए हैं कि उनके नेता अशोक तंवर के समर्थकों को भी टिकट वितरण में पूरा महत्व दिया जाए क्योंकि उन्होंने पांच साल तक प्रदेश में संगठन को मजबूत करने का काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here