Madhya Pradesh Crisis: मध्‍यप्रदेश में अपने-अपने विधायकों को बचाने में जुटी BJP-Congress

गोपाल भार्गव ने कहा कि पार्टी के सभी विधायक होली खेलने के लिए एक चार्टर्ड विमान से अज्ञात स्थान पर जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हम होली खेलने जा रहे हैं.

0
532

कांग्रेस के 21 विधायकों के इस्तीफे देने के बाद कमलनाथ (Kamal Nath) के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) द्वारा विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने का निर्णय लिए जाने के बाद भाजपा अपने विधायकों को मंगलवार देर रात विमान से भोपाल से किसी अज्ञात जगह पर ले गयी.

भाजपा (BJP) सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संभवत: इन विधायकों को मध्य प्रदेश से बाहर दिल्ली में किसी सुरक्षित जगह पर ले जाया जाएगा. हालांकि विधायकों को यह नहीं बताया गया है कि उन्हें कहां ले जाया जाएगा, लेकिन उन्हें कहा गया है कि कुछ दिन बिताने के लिए वे अपना-अपना सामान लेकर आएं. वहीं कांग्रेस के 21 विधायकों के त्यागपत्र के बाद संकट में आई कांग्रेस सरकार (Congress Government) ने मंगलवार शाम को विधायक दल की बैठक में मौजूद अपने 93 विधायकों को एकजुट रखने के लिए किसी अज्ञात स्थान पर एक साथ रखने का निर्णय लिया है. प्रदेश कांग्रेस ने एक नेता ने कहा कि सरकार को समर्थन कर रहे हमारे 92 विधायकों को प्रदेश के एक होटल में एक साथ रखा जाएगा.

दूसरी ओर मंगलवार शाम भोपाल में भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि पार्टी के सभी विधायक होली खेलने के लिए एक चार्टर्ड विमान से अज्ञात स्थान पर जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हम होली खेलने जा रहे हैं. हम हवाई अड्डे पर बसों से जा रहे हैं. पार्टी नेताओं के निर्देशों के बाद हम हवाई अड्डे से किसी स्थान के लिए जाएंगे.’ हालांकि उन्होंने उस स्थान का नाम नहीं बताया, जहां इन विधायकों को ले जाया जाएगा.

वहीं ज्योतिरादित्य (Jyotiraditya Scindia) के समर्थन में कांग्रेस के बागी हुए 21 विधायकों के त्यागपत्र के बाद कांग्रेस ने अपने बाकी बचे विधायकों को एकजुट रखने के लिए यह कदम उठाया है. मंगलवार सुबह ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया. इसके बाद सिंधिया समर्थक कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा का सिलसिला शुरू हो गया और शाम तक 21 विधायकों ने त्यागपत्र दे दिए. इस घटनाक्रम के बाद प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार कथित तौर पर अल्पमत में आ गई मालूम होती है. इस बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों के साथ ही चार निर्दलीय विधायकों के समर्थन का भी दावा किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here