बारिश के मौसम में ऐसे करें हैल्थ केयर, हर प्रॉब्लम रहेगी दूर

0
351

मानसून में ऐसे रखें सेहत का ध्यान : गर्मी से राहत देने वाला बारिश का मौसम ठंडक के साथ-साथ सर्दी-जुकाम, पैरों या पेट में इंफैक्शन, फ्लू, डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियां भी लेकर आता है। जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उन्हें इन बीमारियों का खतरा सबसे ज्यादा होता है। इसके अलावा बारिश में गंदे बैक्टिरियां बहुत जल्दी फैलते हैं जो आपको बीमार कर देते हैं। ऐसे में बारिश में होने वाली प्रॉब्लम से बचने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही हैल्थ केयर टिप्स देंगे, जिससे आप मानसून में होने वाली प्रॉब्लम से बच सकते हैं।

बारिश के मौसम के लिए हैल्थ केयर टिप्स
1. इस मौसम में डेंगू, डायरिया, मलेरिया, बुखार और वायरल इंफैक्शन के साथ स्किन इंफैक्शन का खतरा भी रहता है। इससे बचने के लिए शरीर को हमेशा-साफ सुथरा रखें।

2. घर के आस-पास, कूलर और गमलों में पानी इकट्ठा न होने दें। घर की नियमित रूप से साफ-सफाई करें। इस बात का ध्यान रखें कि डेंगू के मच्छर साफ पानी में पनपते हैं इसलिए पानी को रोजाना बदलें।

3. कोई भी हैल्थ प्रॉब्लम होने पर सीधा डॉक्टर के पास जाएं। मैडीकल स्टोर या किसी और के कहने पर इलाज न करें। इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है।

4. हरी सब्जियों और फलों को धोकर खाएं। इसके अलावा इस मौसम में स्ट्रीट फूड को अवॉइड करें। बिना ढका और अनहैल्दी फूड कई तरह की बीमारियों को न्यौता देता है। कोशिश करें की आप हमेशा ताजा और फ्रैश चीजें ही खाएं। इस बात का भी ध्यान रखें कि भोजन सही तापमान पर पका और ढककर रखा गया हो।

5. चाय और खाने में अदरक, तुलसी, पुदीना और इलायची का इस्तेमाल जरूर करें। इसके अलावा इस मौसम में सबसे जरूरी है कि आप पानी को उबालकर पीएं।

6. बादाम की न्यूट्रिशनल वैल्यू बहुत अधिक होती हैं। यह इम्युनिटी को बढ़ाकर बीमारियों और इंफैक्शन से लड़ने में मदद करते हैं। इसलिए इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

7. दही में लैक्टोबैसिलस होता हैं जो आंत को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं और आपको पेट की परेशानियों से बचाते हैं। इसलिए दही का रोजाना सेवन करें।

8. भोजन खाने से पहले और बाद अपने हाथ जरूर धोएं। आस-पास सफाई रखें और मच्छर-मक्खियों को पनपने न दें।

9. बारिश के मौसम में नए अनाज का इस्तेमाल न करें क्योंकि उससे पाचन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। पुराने चावल, गेहूं, खिचड़ी, मूंग की दाल, मसाले से युक्त साग-सब्जी जैसे-परवल, बैंगन, बथुए का साग, तरबूज और चाय का प्रयोग करें।

10. इस मौसम में पसीना बहुत आता है और काफी देर से सूखता है। इससे शरीर का सारा भाग चिपचिपा हो जाता है जिससे चर्म रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में नीम, करेला आदि का प्रयोग करके पसीने को दूर करें।

11. शरीर को बारिश के पानी से भीगने से बचाएं। कहीं आते-जाते समय छाता या बरसाती अपने साथ रख लें। अगर आप किसी कारण भीग भी जाते हैं तो शरीर को अच्छी तरह साफ करके सूखे कपड़े पहन लें। इसके अलावा बारिश में भीगने के तुरंत बाद चाय कॉफी न पीएं। कुछ देर बाद ही इनका सेवन करें।

12. पॉलिस्टर और नायलॉन के टाइट कपड़े या इनरवेयर न पहनें। शरीर को अधिक देर तक गीला न रहने दें और न ही गीले कपड़े पहने। इसके अलावा टेलकम पाउडर का इस्तेमाल भी न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here